आईआईएम लखनऊ ने ‘जस्ट रोजगार’ में ली छोटी हिस्सेदारी

IIM Lucknow
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
भारतीय प्रबंध संस्थान, लखनऊ (आईआईएम-एल) की स्टार्टअप प्रोत्साहन इकाई ईआईसी ने बुनियादी वित्तपोषण दौर के तहत शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी जस्ट रोजगार में एक छोटी हिस्सेदारी ली है।

नयी दिल्ली, 28 अगस्त।  भारतीय प्रबंध संस्थान, लखनऊ (आईआईएम-एल) की स्टार्टअप प्रोत्साहन इकाई ईआईसी ने बुनियादी वित्तपोषण दौर के तहत शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी जस्ट रोजगार में एक छोटी हिस्सेदारी ली है। जस्ट रोजगार के संस्थापक एवं निदेशक अभिषेक रतन चोला ने बताया कि आईआईएम लखनऊ के एंटरप्राइज इनक्यूबेशन सेंटर (आईआईएमएल-ईआईसी) से जो वित्त हासिल हुआ है उसे कंपनी के शिक्षा प्रौद्योगिकी मंच जस्ट लर्न में निवेश किया जाएगा। इस दौरान जस्ट रोजगार का मूल्यांकन 79.95 करोड़ रुपये किया गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें आईआईएमएल की स्टार्टअप प्रोत्साहन इकाई ईआईसी से बुनियादी वित्त पोषण मिला है। यह हमारे ब्रांड जस्ट लर्न के लिए है।’’ आईआईएमसीएल-ईआईसी के अधिकारियों ने भी निवेश की पुष्टि की है। इसके सहायक उपाध्यक्ष (निवेश) अमृत तिवारी ने कहा, ‘‘जस्ट रोजगार सॉल्यूशन्स प्राइवेट लिमिटेड में 79.95 करोड़ रुपये के मूल्यांकन पर निवेश किया गया है।’’ हालांकि उन्होंने भी यह नहीं बताया कि कितनी हिस्सेदारी ली गई है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़