आईएमए पोंजी योजना: एसआईटी ने बेग को नोटिस दिया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 9 2019 4:51PM
आईएमए पोंजी योजना: एसआईटी ने बेग को नोटिस दिया
Image Source: Google

कर्नाटक के साथ-साथ आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और यहां तक कि दिल्ली के लोगों ने भी इनके जाल में फंसकर इस पोंजी योजना में अपनी धनराशि निवेश कर दी थी।

बेंगलुरू। आईएमए समूह से जुड़े कथित पोंजी घोटाला मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने मंगलवार को कांग्रेस विधायक रोशन बेग को एक नोटिस दिया और उनसे बृहस्पतिवार को उसके समक्ष पेश होने के लिए कहा।शिवाजीनगर से विधायक बेग के विधानसभा से इस्तीफा देने के कुछ घंटों के बाद यह घटनाक्रम हुआ।


बेग को उनकी कथित पार्टी-विरोधी गतिविधियों के लिए कांग्रेस से निलंबित कर दिया गया था। एसआईटी के एक जांच अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘हां, हमने एक नोटिस दिया है।’’ पोंजी योजना को चलाने वाला और आईएमए का मालिक मोहम्मद मंसूर खान फरार हो गया था। खान ने एक ऑडियो संदेश में बेग पर उससे 400 करोड़ रुपये लेने और इस धनराशि को वापस नहीं करने का आरोप लगाया था।
बेग ने इन आरोपों को खंडन करते हुए इसे निराधार बताया था। हजारों निवेशकों, ज्यादातर मुस्लिमों से करोड़ों रुपये की राशि ठगने वाला खान पिछले महीने फरार हो गया था। कर्नाटक के साथ-साथ आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और यहां तक कि दिल्ली के लोगों ने भी इनके जाल में फंसकर इस पोंजी योजना में अपनी धनराशि निवेश कर दी थी। एसआईटी ने इस घोटाले के संबंध में बेंगलुरु शहरी जिले के उपायुक्त बी एम विजय शंकर और बेंगलुरु उत्तर उप-मंडल के सहायक आयुक्त एल सी नागराज समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप