भारत एटीएम- जहां हर किराना स्टोर है बैंक

भारत एटीएम- जहां हर किराना स्टोर है बैंक

भारत एटीएम जहां एक ओर ई−बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराता है, वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों में आत्मविश्वास भी उत्पन्न करता है। वे बेहिचक रीटेल स्टोर जाकर अपना बैंक खाता खोलने के लिए कह सकते हैं, जो पहले कभी इतना आसान नहीं था। उपभोक्ता को सिर्फ ऐप डाउनलोड करना होता है और अकाउन्ट बनाना होता है।

भारत एटीएम ऐप ग्रामीण भारत के लिए नए दौर की डिजिटल बैंकिंग सेवाएं लेकर आया है। दिसम्बर 2020 में महाग्राम द्वारा लॉन्च किया गया यह ऐप देश भर में ग्रामीणों को विभन्न प्रकार की बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराता है। उपभोक्ता अपने घर के नज़दीक ही कई तरह की ई−बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। यह प्लेटफॉर्म स्थानीय किराना स्टोर को बैंक में बदल देता है, जो ग्रामीणों को बैंकिंग, ऋण और बीमा सेवाएं उपलब्ध कराते हैं। इस फिनटेक स्टार्ट−अप के साथ 4.5 लाख छोटे मर्चेन्ट्स जुड़ चुके हैं, जो रु 2000 करोड़ के जीटीवी (सकल लेनदेन मूल्य) के साथ 14,645 पिन कोड्स को कवर करते हैं।  

इसे भी पढ़ें: गुजरात: पुर्तगाली बैंक ने वापस किये साइबर ठगी में गंवाए व्यवसायी के 31 लाख रुपये

अब डिजिटल बैंकिंग सेवाएं सिर्फ भारत के शहरी इलाकों तक ही सीमित नहीं हैं बल्कि गांवों के लोग भी अपनी सुविधानुसार बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। ऐसा एक अग्रणी एनईओ बैंकिंग ऐप, भारत एटीएम की वजह से ही संभव हो पाया है, जो छोटे मर्चेन्ट्स एवं उपभोक्ताओं को व्यापक सेवाएं प्रदान करता है। वे किराना स्टोर्स के साथ साझेदारी करते हैं, जहां उपभोक्ता बैकिंग सेवाएं पा सकते हैं। इस तरह गांवों में रहने वाले लोगों को नज़दीकी बैंक शाखा तक जाने के लिए लम्बी दूरी तय नहीं करनी पड़ती और उनके समय एवं पैसे दोनों की बचत होती है। बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के, उपभोक्ता इन स्थानीय स्टोर्स पर पैसा जमा कर सकते हैं, नकद निकाल सकते हैं और ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। वे अपनी स्थानीय भाषा में कई अन्य बैंकिंग सेवाओं का लाभ भी उठा सकते हैं। इस ऐप के ज़रिए रीटेल उपभोक्ता अपने पास के स्टोर में आधार कार्ड और पैन कार्ड की कॉपी (ई−केवायसी के लिए) देकर बैंक खाता खोल सकता है। इस तरह भारत ऐप के माध्यम से वे पैसा और समय बिना खर्च किए आसान एवं सुविधाजनक बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। 

भारत एटीएम जहां एक ओर ई−बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराता है, वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों में आत्मविश्वास भी उत्पन्न करता है। वे बेहिचक रीटेल स्टोर जाकर अपना बैंक खाता खोलने के लिए कह सकते हैं, जो पहले कभी इतना आसान नहीं था। उपभोक्ता को सिर्फ ऐप डाउनलोड करना होता है और अकाउन्ट बनाना होता है। केवायसी पूरा होने के बाद यूज़र भारत एटीएम की सेवाओं का लाभ उठा सकता है। अब तक भारत एटीएम 20 लाख से अधिक उपभोक्ताओं को बैंकिंग सेवाओं से लाभान्वित कर चुका है, इसके 30 फीसदी उपभोक्ताओं ने भारत एटीएम की सेवाओं को दोबारा इस्तेमाल किया है। ऐप ने छोटे दुकानदारों केे लिए 'इन्वेस्टमेन्ट ए.ड लेंडिंग' का प्रस्ताव भी पेश किया है, जिसमें उन्हें बचत पर 10 फीसदी तक का रिटर्न मिलता है और वे कम ब्याज दरों पर ऋण लेकर अपना कारोबार बढ़ा सकते हैं। भारत एटीएम के देश भर में 3.5 लाख टचपॉइन्ट्स हैं, जिनमें 20,000 वायरलैस एटीएम भी शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: एक्ट्रेस से फ्लाइट में छेड़छाड़ करने के मामले में गाजियाबाद का बिजनेसमैन मुंबई में गिरफ्तार

ग्रामीण उपभोक्ताओं की ज़रूरतों पर बात करते हुए श्री राम श्रीराम, संस्थापक, महाग्राम ने कहा, ''न सिर्फ छोटे मर्चेन्ट्स बल्कि भारत एटीएम ने भी गृहिणियों, वरिष्ठ नागरिकों और किशोरों की ज़रूरतों को महत्व दिया और 10 फीसदी सालाना की उंची रिटर्न पर उनके लिए अनूठा 'रेकरिंग डिपोजि़ट प्रोग्राम' भी लेकर आए हैं।'' अपनी बात जारी रखते हुए उन्होंने कहा, ''भारत एटीएम की शुरूआत के बाद से इसका विकास तेज़ी से हुआ है, हमारे ग्रामीण उपभोक्ताओं की संख्या भी तेज़ी से बढ़ रही है। हमने 2022 के अंत तक 2 मिलियन रीटेल स्टोर्स और खोलने की योजना बनाई है और हम अगली तिमाही में अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए 10 मिलियन डॉलर की राशि जुटाएंगे।''