भारत को गुणवत्तापरक चाय का वैश्विक आपूर्तिकर्ता बनाने की जरूरत: अनुप्रिया

Indian Tea
Google Creative Commons.
उन्होंने कहा, ‘‘वैश्विक बाजार में भारत को गुणवत्तापरक चाय का अग्रणी आपूर्तिकर्ता बनाने की जरूरत है।’’ पटेल ने बताया कि भारत ने 21 मई को अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में मनाने की सिफारिश की थी जिसे संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्वीकार कर लिया है।

कोलकाता|  केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने शनिवार को कहा कि बागान मालिकों को चाय बोर्ड की सहायता से भारत को गुणवत्तापूर्ण चाय का वैश्विक आपूर्तिकर्ता बनाने की कोशिश करनी चाहिए।

तीसरे अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के अवसर पर चाय बोर्ड और भारतीय चाय संघ (आईटीए) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक कार्यक्रम में पटेल ने कहा कि कि चाय बोर्ड ने चाय पत्तियों को तोड़ने के समय गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए विशेष अभियान शुरू किया है। इसके तहत बागान कर्मी जिन हरी पत्तियों को तोड़ते हैं उन्हें उनकी गुणवत्ता सुधारने में मदद दी जाएगी।

वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री पटेल ने कहा कि बढ़िया गुणवत्ता वाली चाय को इस महीने विशेष नीलामी के जरिए बेचा जाएगा और इसके अच्छे दाम मिलने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा, ‘‘वैश्विक बाजार में भारत को गुणवत्तापरक चाय का अग्रणी आपूर्तिकर्ता बनाने की जरूरत है।’’ पटेल ने बताया कि भारत ने 21 मई को अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में मनाने की सिफारिश की थी जिसे संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्वीकार कर लिया है।

उन्होंने चाय की टिकाऊ पैदावार के लिए सामूहिक प्रयासों की जरूरत पर भी बल दिया। इस मौके पर चाय बोर्ड के अध्यक्ष सौरव पहाड़ी ने कहा, ‘‘हम उस युवा पीढ़ी को आकर्षित करने का प्रयास कर रहे हैं जो चाय सेवन से उतना परिचित नहीं है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़