दुनियाभर में इस्तेमाल होने वाले 60 फीसदी टीकों की आपूर्ति करता है भारत: निर्मला सीतारमण

Nirmala Sitaraman
ANI Image
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत आज प्रत्येक नागरिक को दोहरी खुराक दे रहा है और देश ने लॉकडाउन के दौरान भी कोविड-19 टीकों का उत्पादन किया। उन्होंने कहा कि दशकों से भारत ने उल्लेखनीय योगदान दिया है। दुनिया में इस्तेमाल किए जाने वाले सभी टीकों में लगभग 60 प्रतिशत भारत में बनते हैं।

नयी दिल्ली। दुनिया भर में इस्तेमाल होने वाले सभी तरह के टीकों में लगभग 60 प्रतिशत का उत्पादन भारत में होता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि दशकों के दौरान भारत ने दुनिया के टीकाकरण अभियान में उल्लेखनीय योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि भारत आज प्रत्येक नागरिक को दोहरी खुराक दे रहा है और देश ने लॉकडाउन के दौरान भी कोविड-19 टीकों का उत्पादन किया। सीतारमण ने व्यय विभाग के अतिरिक्त सचिव सज्जन सिंह यादव की पुस्तक इंडियाज वैक्सीन ग्रोथ स्टोरी का विमोचन करते हुए कहा कि विश्व टीकाकरण में योगदान देना देश के ‘डीएनए’ में है

इसे भी पढ़ें: 'देश में गवर्नेंस के हैं दो मॉडल', मनीष सिसोदिया का भाजपा पर हमला, बोले- जनता के पैसों से माफ किए जाते हैं लाखों-करोड़ों के टैक्स 

उन्होंने कहा, दशकों से भारत ने उल्लेखनीय योगदान दिया है। दुनिया में इस्तेमाल किए जाने वाले सभी टीकों में लगभग 60 प्रतिशत भारत में बनते हैं। टीकाकरण के मामले में दुनिया में भारत का योगदान अतुलनीय है। सीतारमण ने कहा कि आज देश में प्रत्येक नागरिक को दोहरी खुराक दी जा रही है और इतने बड़े पैमाने पर वैक्सीन का उत्पादन और लोगों को खुराक देना आसान नहीं था। भारत ने समयबद्ध तरीके से 200 करोड़ कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को पार कर लिया है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक कोविड-19 वैक्सीन की 208.57 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़