कैट ने दुकानें खोलने की छूट किया स्वागत, दुकानदार राज्यों के निर्देशानुसार चलेंगे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   20:36
कैट ने दुकानें खोलने की छूट किया स्वागत, दुकानदार राज्यों के निर्देशानुसार चलेंगे

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने शनिवार कोएक बयान में कहा, ‘‘केंद्र के आदेश को लागू करने के लिए राज्य सरकारों को आवश्यक निर्देश जारी करने होंगे। व्यापारी उसी के आधार पर अपनी दुकानें खोल पाएंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कैट ने देशभर के व्यापारियों से अपने अपने राज्य में सरकार के आदेश की प्रतीक्षा करने की अपील की है।

नयी दिल्ली। छोटे व्यापारियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने देशभर में गली-मोहल्लों, स्वतंत्र तौर पर चलने वाली दुकानों को खोलने की अनुमति देने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि दुकानदार इस मामले में अपने राज्य की सरकार के निर्देश के अनुसार काम करेंगे। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने शनिवार कोएक बयान में कहा, ‘‘केंद्र के आदेश को लागू करने के लिए राज्य सरकारों को आवश्यक निर्देश जारी करने होंगे। व्यापारी उसी के आधार पर अपनी दुकानें खोल पाएंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कैट ने देशभर के व्यापारियों से अपने अपने राज्य में सरकार के आदेश की प्रतीक्षा करने की अपील की है। साथ ही आवश्यक रूप से स्वास्थ्य सुरक्षा एवं आपस में मेल जोल के समय शारीरिक दूरी के मानदंडों का पालन करने के लिए कहा है।’’ गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को देशभर में गली-मोहल्लों में विभिन्न तरह की दुकानों को खोलने का आदेश जारी कर दिया।

इसे भी पढ़ें: Ola की दिल्ली सरकार के साथ भागीदारी, मरीजों को देगी मुफ्त कैब सेवा

हालांकि इन सभी दुकानों को एहतियाती सुरक्षा, सामुदायिक दूरी के उपाय करने होंगे। इन दुकानों पर केवल 50 प्रतिशत कर्मचारी ही एक समय में काम कर सकेंगे। केंद्र सरकार के आदेश अनुसार बड़े बाजार, बाजार परिसर और मॉल इत्यादि अभी बंद रहेंगे। हालांकि सरकार के आदेश की अलग-अलग व्याख्या होने के भ्रम पर कैट ने केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला को पत्र लिखकर गृह मंत्रालय के आदेश पर स्पष्टीकरण देने का आग्रह किया है। इसी आदेश के मद्देनज़र कैट ने वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी को एक पत्र भेजकर फिर से कहा कि दुकानें अथवा बाजार खोलने से पहले उन्हें अच्छी तरह से कीटाणुमुक्त करना बेहद जरूरी है। केंद्र सरकार को इसे लेकर एक स्पष्ट योजना तुरंत बनानी चाहिए। इससे पहले खुदरा कारोबार करने वाली फर्मों के संगठन रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आरएआई) ने भी शनिवार को आदेश में उल्लेखित ‘बाजार परिसर’ (मार्केट काम्प्लेक्स) जैसे शब्दों का अर्थ आसानी से समझ नहीं आने का उदाहरण देते हुए, इसे और स्पष्ट करने की जरूरत बतायी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।