अगर कोरोना की वजह से होती है शादी कैंसिल, तो इस स्कीम के जरिये हो सकता है आपको 10 लाख तक लाभ

marriage
अगर आप भी शादी कैंसिल होने के आर्थिक नुकसान से बचना चाहते हैं तो वेडिंग इंश्योरेंस ले सकते हैं। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए इस साल भी कई शादियां कैंसिल हो सकती है। लेकिन बैंकेंट हॉल, फार्म हाउस की बुकिंग कैंसिल करने से कई बार लोग पैसा देने से मना कर देते हैं।

कोरोना वायरस के नए वैरियंट ओमिक्रॉन की दहशत भारत समेत पूरी दुनिया में फैल चुकी है। ओमिक्रॉन के मामले भारत में तेजी से बढ़ रहे हैं। भारत की राजधानी समेत देश के 22 राज्यों में ओमिक्रोन के मामले सामने आ चुके हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ यह कहने लगे हैं कि देश में तीसरी लहर भी आ सकती है।कोरोना की दूसरी लहर के गुजर जाने के बाद, जिंदगी पटरी पर लौट रही थी। लोग शादी, फंक्शन और कहीं घूमने जाने का प्लान बना रहे थे। लेकिन एक बार फिर तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकारों ने भी सख्ती लागू करनी शुरू कर दी है।

  देश की राजधानी दिल्ली में भी येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है, जिसके बाद अब राजधानी में किसी शादी या फंक्शन में 20 लोग ही जा सकते हैं। ऐसे में सबसे बड़ी टेंशन उनके लिए है जिनके घर पर जनवरी या फरवरी में किसी की शादी होनी है। आर्थिक नुकसान को दरकिनार कर कोरोना के खतरे को देखते हुए लोग शादियां कैंसिल कराने में भी लगे हैं। अगर आपके यहां भी किसी की शादी है और कोरोना वायरस से आप शादी कैंसिल करने की सोच रहे हैं तो यह खबर आपके काम की है। हम आपको एक ऐसी स्कीम के बारे में बताएंगे जिसके जरिये शादी कैंसिल होने पर आपको 10 लाख तक का लाभ हो सकता है।

वेडिंग इंश्योरेंस

 अगर आप भी शादी कैंसिल होने के आर्थिक नुकसान से बचना चाहते हैं तो वेडिंग इंश्योरेंस ले सकते हैं। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए इस साल भी कई शादियां कैंसिल हो सकती है। लेकिन बैंकेंट हॉल, फार्म हाउस  की बुकिंग कैंसिल करने से कई बार लोग पैसा देने से मना कर देते हैं। हम और आप यह बुकिंग लाखों में करते हैं और जब ऐसे हालात आते हैं तब हमें आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है। इसीलिए देश की कई कंपनियां ऐसे हालातों से निपटने के लिए आपको वेडिंग इंश्योरेंस देती है।

 

इन पर मिल सकता है इंश्योरेंस

 आपने जो पैसे केटेरर को एडवांस के तौर पर दिए हैं।

 आपने शादी के लिए किसी हॉल या होटल को बुक किया हो।

 आपने ट्रेवल एजेंसियों को पैसा एडवांस दिया हो।

 आपने शादी के कार्ड छपने का पैसा एडवांस दिया हो।

 आपने शादी में म्यूजिक और सजावट के लिए जो पैसा दिया हो।

इंश्योरेंस की रकम

 गौरतलब है कि, वेडिंग इंश्योरेंस इस बात पर तय होता है कि आपने उसका बीमा कितने का कराया है। इसमें सबसे अच्छी बात यह है कि, अगर आपने शादी की तारीख बदली है तब भी आप इंश्योरेंस क्लेम कर सकते हैं। अगर आप 10,00,000 तक का वेटिंग इंश्योरेंस कराते हैं तो आपको 75,00 से 15,000 रुपये तक का प्रीमियम भरना होगा।

इन हालातों में नहीं मिल सकता क्लेम

 किसी भी तरह की हड़ताल में आपको इंश्योरेंस क्लेम नहीं मिल सकता।

 अगर शादी अचानक टूट जाती है या कैंसिल हो जाती है तब भी आप इंश्योरेंस क्लेम नहीं कर सकते।

 अगर दूल्हा दुल्हन का अपहरण हो जाता है और शादी के दिन पर शादी  नहीं हो पाती ऐसे में भी आप इंश्योरेंस का क्लेम नहीं कर सकते।

 अगर शादी के कपड़े या किसी पर्सनल चीज का नुकसान हो जाता है तब भी आपको इंश्योरेंस का क्लेम नहीं मिलेगा।

 अगर आप शादी की जगह बदल देते हैं या कैंसिल कर देते हैं तो भी आप क्लेम पाने के हकदार नहीं होंगे।

 अगर कोई इलेक्ट्रिकल या मैकेनिकल खराबी होती है ऐसे में भी इंश्योरेंस क्लेम नहीं दिया जाएगा।

 जानबूझकर अगर कोई नुकसान पहुंचाया जाता है, तो भी नहीं मिलेगा इंश्योरेंस क्लेम

कैसे ले सकते हैं वेडिंग इंश्योरेंस

 इंश्योरेंस लेने से पहले आपको शादी के खर्च की जानकारी इंश्योरेंस कंपनी या एजेंसी को देनी होगी।

 अगर आपको कोई नुकसान हो, तो उसकी जानकारी इंश्योरेंस कंपनी को तुरंत दे।

 अगर आपकी कोई चीज चोरी हुई है तो जानकारी पुलिस को दें और एक एफआईआर की कॉपी इंश्योरेंस कंपनी को सौंपे।

 क्लेम पाने के लिए आपको फॉर्म भरना होगा और सभी कागजात कंपनी को देने होंगे 

 इसके बाद कंपनी अपना रिप्रेजेंटेटिव भेज कर पूरी सूचना हासिल करेगी।

 अगर आप का क्लेम सही पाया जाता है तो आपको नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी की ओर से की जाएगी।

  अगर पॉलिसी होल्डर को बीमा कंपनी की ओर से दी गई राशि कम लगती है तो वह कोर्ट का रुख भी कर सकता है।

 बीमा कंपनी वेडिंग इंश्योरेंस क्लेम 30 दिनों के अंदर दे देती है।

अन्य न्यूज़