मारुति सुजुकी का चौथी तिमाही का शुद्ध लाभ 1,133.6 करोड़ पर

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी का 31 मार्च को समाप्त चौथी तिमाही का शुद्ध लाभ 11.7 प्रतिशत घटकर 1,133.6 करोड़ रुपये रह गया।

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी का 31 मार्च को समाप्त चौथी तिमाही का शुद्ध लाभ 11.7 प्रतिशत घटकर 1,133.6 करोड़ रुपये रह गया। हरियाणा में जाट आंदोलन तथा ऊंचे विज्ञापन खर्च की वजह से कंपनी के मुनाफे में कमी आई है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 1,284.2 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया था। कंपनी ने कहा कि जाट आरक्षण आंदोलन की वजह से 10,000 इकाइयों के उत्पादन के नुकसान, ऊंचे विज्ञापन खर्च तथा अन्य आय में कमी से तिमाही के दौरान कंपनी का मुनाफा प्रभावित हुआ।

तिमाही के दौरान कंपनी की शुद्ध बिक्री हालांकि 12.5 प्रतिशत बढ़कर 14,929.5 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 13,272.5 करोड़ रुपए रही थी। तिमाही के दौरान कंपनी की कारों की बिक्री 3.9 प्रतिशत बढ़कर 3,60,402 इकाई पर पहुंच गई। इस दौरान कंपनी का निर्यात 27,009 कारों का रहा। मारुति का 31 मार्च को समाप्त पूरे वित्त वर्ष में शुद्ध मुनाफा 23.2 प्रतिशत बढ़कर 4,571.4 करोड़ रुपये रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 3,711.2 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष में कंपनी की बिक्री 15.9 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 56,350.4 करोड़ रुपये की रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 48,605.5 करोड़ रुपये रही थी। वित्त वर्ष के दौरान कंपनी की वाहन बिक्री 10.6 प्रतिशत बढ़कर 14,29,248 इकाई रही। वित्त वर्ष में कंपनी ने 1,23,897 वाहनों का निर्यात किया। कंपनी के निदेशक मंडल ने 2015-16 के लिए 5 रुपये अंकित मूल्य के शेयर पर 700 प्रतिशत, 35 रुपये प्रति शेयर के लाभांश की घोषणा की है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


Tags

    अन्य न्यूज़