आयुष मंत्रालय ने पीएमजेएवाई में 19 उपचार पैकेज शामिल करने का प्रस्ताव किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 24, 2019   17:48
आयुष मंत्रालय ने पीएमजेएवाई में 19 उपचार पैकेज शामिल करने का प्रस्ताव किया

आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नाइक ने पिछले 100 दिनों में अपने मंत्रालय की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा, ‘‘19 आयुष पैकेज को शामिल करने के एक प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया गया है और इसे राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को सौंपा गया है।’’

नयी दिल्ली। केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने मंगलवार को कहा कि आयुष मंत्रालय ने ‘कैशलेस’ स्वास्थ्य बीमा योजना ‘प्रधानमंत्री जन आयोग्य योजना’ (पीएम-जेएवाई) में 19 आयुर्वेदिक, योग, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (आयुष) उपचार पैकेज शामिल करने का प्रस्ताव किया है। आयुष सचिव राजेश कोटेचा ने बताया कि तंत्रिका संबंधी (न्यूरोलॉजिकल) रोग, गठिया (आर्थराइटिस) सहित अन्य रोगों के उपचार का प्रस्ताव राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को दिया गया है।

इसे भी पढ़ें: नाना पटोले ने PM मोदी को लिखा पत्र, कहा- किसानों के हित में जल्द कदम उठाएं

सचिव ने बताया कि पैकेज में पंचकर्म, कपिंग थैरेपी और वर्मम थैरेपी के जरिये उपचारों को शामिल किया गया है। आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नाइक ने पिछले 100 दिनों में अपने मंत्रालय की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा, ‘‘19 आयुष पैकेज को शामिल करने के एक प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया गया है और इसे राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण को सौंपा गया है।’’

नाइक ने यह भी बताया कि अतिरिक्त आयुष उपचारों के लिए बीमा को विस्तृत करने के लिए दिशानिर्देशों को भी अंतिम रूप दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रस्तावों की छानबीन के आधार पर राष्ट्रीय आयुष मिशन के तहत राज्यों को 325 करोड़ रुपये जारी किये गये हैं। नीति आयोग और इंवेस्ट इंडिया के सहयोग से एक समन्वित स्वास्थ्य शोध (एसआईएचआर) को 490 करोड़ रुपये के अनुमानित व्यय के साथ अंतिम रूप दिया गया है। उल्लेखनीय है कि अभी आधुनिक चिकित्सा पद्धति (एलोपैथी) से इलाज करा रहा कोई रोगी पीएमजेएवाई के तहत मेडिकल बीमा के लिए योग्य है जबकि हेल्थ कवर उन लोगों के लिए अनुपलब्ध है जो वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति (आयुष) का विकल्प चुनते हैं। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।