गोवा में एचएएल की प्रस्तावित परियोजना को आगे बढ़ाने पर विचार कर रहा रक्षा मंत्रालय

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Aug 16 2019 2:45PM
गोवा में एचएएल की प्रस्तावित परियोजना को आगे बढ़ाने पर विचार कर रहा रक्षा मंत्रालय
Image Source: Google

बेंगलुरू स्थित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) और फ्रांसीसी कंपनी सफरान हेलीकॉप्टर इंजन्स ने गोवा में इस हेलीकॉप्टर रखरखाव संयंत्र की स्थापना के लिए एक संयुक्त उद्यम- हेलीकाप्टर इंजन एमआरओ प्राइवेट लिमिटेड बनाया था।

पणजी। रक्षा मंत्रालय गोवा में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड की हेलीकाप्टर रखरखाव, मरम्मत और जीर्णोद्धार (एमआरओ) संबंधी प्रस्तावित परियोजना पर आगे बढ़ने का विचार कर रहा है। इस परियोजना की घोषणा 2016 में ही हो गई थी, लेकिन इसपर काम आगे नहीं बढ़ पाया था। केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने गुरुवार को पीटीआई-भाषा को बताया कि वह प्रस्तावित परियोजना को लेकर फिर से काम शुरू करेंगे, जिसके लिए पहले ही जमीन का अधिग्रहण किया जा चुका है।

इसे भी पढ़ें: रूस ने रॉकेट विस्फोट में मारे गए पांच परमाणु इंजीनियरों को अंतिम विदाई दी

पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने अक्टूबर 2016 में इस परियोजना की घोषणा की थी। इसे उत्तरी गोवा के सत्तारी तालुका स्थित होंडा गांव में स्थापित करने का प्रस्ताव था। बेंगलुरू स्थित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) और फ्रांसीसी कंपनी सफरान हेलीकॉप्टर इंजन्स ने गोवा में इस हेलीकॉप्टर रखरखाव संयंत्र की स्थापना के लिए एक संयुक्त उद्यम- हेलीकाप्टर इंजन एमआरओ प्राइवेट लिमिटेड बनाया था।
नाइक ने कहा, ‘‘परियोजना की घोषणा की जा चुकी है, लेकिन इस पर अभी तक काम शुरू नहीं हुआ था। मैं इसे पुनर्जीवित करूंगा। अगर फ्रांस स्थित कंपनी के साथ समझौते को लेकर कोई समस्या होती है, तो हम इसकी समाप्ति के बाद किसी अन्य कंपनी के साथ भी गठजोड़ कर सकते हैं।’’

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप