वित्त मंत्रालय आठ जुलाई को पहला अरुण जेटली स्मृति व्याख्यान आयोजित करेगा

Ministry of Finance
ANI Photo.
आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने व्याख्यान के बारे में संवाददाताओं को जानकारी देते हुएकहा कि यह कार्यक्रम हर साल राष्ट्र निर्माण में जेटली के योगदान की याद में आयोजित किया जाएगा।

नयी दिल्ली| सिंगापुर के वरिष्ठ मंत्री थरमन षनमुगरत्नम आठ जुलाई को पहला अरुण जेटली स्मृति व्याख्यान देंगे। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे।

वित्त मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले आर्थिक मामलों के विभाग ने भारतीय अर्थव्यवस्था में बहुमूल्य योगदान देने के लिए जेटली के सम्मान में स्मृति व्याख्यान शुरु किया है। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान जेटली 2014 और 2019 के बीच वित्तमंत्री थे। अगस्त 2019 में उनका निधन हो गया।

आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने व्याख्यान के बारे में संवाददाताओं को जानकारी देते हुएकहा कि यह कार्यक्रम हर साल राष्ट्र निर्माण में जेटली के योगदान की याद में आयोजित किया जाएगा।

उन्होंनेजेटली के योगदान का जिक्र करते हुए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी), दिवाला एवं ऋण शोधन अक्षमता संहिता (आईबीसी) की शुरूआत और बैंकों में पूंजी डालने जैसे कार्यों का उल्लेख किया।

वार्षिक व्याख्यान, भारत और वैश्विक अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने वाले सामयिक आर्थिक मुद्दों पर एक प्रसिद्ध आर्थिक विचारक द्वारा मुख्य भाषण के साथ होगा। सिंगापुर के पूर्व उप प्रधान मंत्री षणमुगरत्नम विकास और समावेशिता पर अपना भाषण देंगे।

इसके साथ ही इंस्टीट्यूट ऑफ एकोनॉमिक ग्रोथ (आईईजी) के सहयोग से आर्थिक मामलों का विभाग 8-10 जुलाई के बीच कौटिल्य आर्थिक सम्मेलन आयोजित करेगा।

हार्वर्ड केनेडी स्कूल के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और निवेश विषय के प्रोफेसर, रॉबर्ट लॉरेंस, फाइनेंशियल टाइम्स के एसोसिएट एडिटर; मार्टिन वुल्फ, भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर, शक्तिकांत दास, नीति आयोग के पूर्व सीईओ, अमिताभ कांत तथा लंदन स्कूल ऑफ एकोनॉमिक्स के निकोलस स्टर्न सहित 21 देशों के प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़