Mukesh Ambani ब्रांड संरक्षकता सूचकांक 2023 में भारत में पहले,दुनिया में दूसरे स्थान पर

Mukesh Ambani
प्रतिरूप फोटो
ANI
ब्रांड फाइनेंस ने ब्रांड मजबूती सूचकांक की तरह ही अपना ब्रांड संरक्षकता सूचकांक तैयार किया है। ब्रांड मजबूती सूचकांक अपनी कॉरपोरेट ब्रांड मूल्यांकन को रेखांकित करता है। ब्रांड फाइनेंस ने 2023 की रिपोर्ट में कहा, हमने एक संतुलित सूचकांक बनाया है।

उद्योगपति मुकेश अंबानी ने ब्रांड संरक्षकता सूचकांक 2023 में माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला और गूगल के सुंदर पिचाई को पीछे छोड़ दिया है। मुकेश अंबानी इस सूचकांक में भारत में पहले और विश्व में दूसरे स्थान पर हैं। ब्रांड फाइनेंस ने ब्रांड मजबूती सूचकांक की तरह ही अपना ब्रांड संरक्षकता सूचकांक तैयार किया है। ब्रांड मजबूती सूचकांक अपनी कॉरपोरेट ब्रांड मूल्यांकन को रेखांकित करता है। ब्रांड फाइनेंस ने 2023 की रिपोर्ट में कहा, हमने एक संतुलित सूचकांक बनाया है।

इसमें कंपनी के संरक्षक के रूप मे कार्य करने की कंपनियों के सीईओ की क्षमताओं और दीर्घकालिक स्तर पर शेयरधारक मूल्य को आगे बढ़ाने में भूमिका को मापा गया है। रिपोर्ट में कहा गया, ब्रांड फाइनेंस की ब्रांड संरक्षकता सूचकांक (बीजीआई) 2023 में एनविडिया के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) जेनसेन हुआंग पहले और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिडेट के मुकेश अंबानी दूसरे स्थान पर आ गए हैं।

इन दोनों ने पहले दो स्थानों पर कब्जा कर पिछले साल शीर्ष पर रहने वाले माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला को तीसरे स्थान पर कर दिया है। सूचकांक में शीर्ष 10 में सबसे ज्यादा लोग भारतीय या भारतीय मूल से हैं। एडोब के शांतनु नारायण चौथे जबकि सुंदर पिचाई पांचवें स्थान पर हैं। डेलॉयट के पुनीत राजन छठे जबकि टाटा समूह के चेयरमैन नटराजन चंद्रशेखरन आठवें स्थान पर हैं। डीबीएस के पीयूष गुप्ता नौवें स्थान पर हैं जबकि टेंसेंट के हुआतेंग मा 10वें स्थान पर हैं। महिंद्रा समूह के प्रमुख आनंद महिंद्रा 23वें स्थान पर हैं। रिलायंस के प्रबंध निदेशक और चेयरमैन अंबानी दूसरे स्थान पर हैं। वह समूह के प्रमुख की भूमिका में 40 साल से हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़