ईंधन के रूप में प्रदूषण रहित मेथनॉल का इस्तेमाल करना चाहिए: गडकरी

Nitin Gadkari Says India must go for pollution-free methanol as fuel
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि भारत को ईंधन के रूप में प्रदूषण रहित मेथनॉल का इस्तेमाल करना चाहिए। उन्होंने स्वीडन की मिसाल दी जो डीजल को छोड़कर मेथनॉल अपनाने की दिशा में बढ़ रहा है।

पणजी। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि भारत को ईंधन के रूप में प्रदूषण रहित मेथनॉल का इस्तेमाल करना चाहिए। उन्होंने स्वीडन की मिसाल दी जो डीजल को छोड़कर मेथनॉल अपनाने की दिशा में बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि समुद्र में प्रदूषण को कम करने के लिए केंद्र ने इंजन विनिर्माताओं के साथ जहाजों के लिए जैविक ईंधन अनुकूल इंजन निर्माण की बातचीत शुरू की है।

सड़क परिवहन, राजमार्ग और पोत परिवहन मंत्री गडकरी ने घोषणा की कि वायु यातायात नियंत्रण प्रणाली की तर्ज पर सरकार नदी यातायात नियंत्रण प्रणाली विकसित कर रही है। दक्षिण गोवा में चल रहे ‘सागर डिस्कोर्स’ के दूसरे दिन कल उन्होंने कहा, ‘‘ हमें प्रदूषिण रहित मेथनॉल का इस्तेमाल ईंधन के रूप में करना चाहिए।

यह 22 रुपये प्रतिलीटर में उपलब्ध है। स्वीडन भी डीजल की जगह मेथनॉल अपनाने की दिशा में बढ़ रहा है। फोरम फॉर इंटीग्रेटेड नेशनल सिक्युरिटी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में 22 देशों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़