अप्रैल-जून तिमाही के लिए लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बदलाव नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 29, 2019   18:06
अप्रैल-जून तिमाही के लिए लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बदलाव नहीं

अधिसूचना में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही के लिए लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों को 2018-19 की चौथी तिमाही के बराबर यानी यथावत रखा गया है।

नयी दिल्ली। सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही के लिए राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) और भविष्य निधि कोष (पीपीएफ) सहित लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया है। वित्त मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी अधिसूचना के अनुसार तिमाही के दौरान पीपीएफ और एनएससी पर आठ प्रतिशत का ब्याज मिलेगा। वहीं किसान विकास पत्र (केवीपी) पर 7.7 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा और यह 112 माह में परिपक्व होगा। लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को तिमाही आधार पर अधिसूचित किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: PNB हाउसिंग में हिस्सेदारी बेचकर 1851 करोड़ जुटाएगा पंजाब नेशनल बैंक

अधिसूचना में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही के लिए लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों को 2018-19 की चौथी तिमाही के बराबर यानी यथावत रखा गया है। पांच साल की वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर ब्याज दर को 8.7 प्रतिशत पर कायम रखा गया है। वरिष्ठ नागरिक योजना पर ब्याज का भुगतान तिमाही आधार पर किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी विदेश मंत्रालय का खुलासा, भारत-यूएस के बीच रक्षा सहयोग बढ़ा

इसी तरह बचत जमा पर ब्याज दर को चार प्रतिशत सालाना पर यथावत रखा गया है। छोटी लड़कियों के लिए सुकन्या समृद्धि योजना में अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 8.5 प्रतिशत का ब्याज दिया जाएगा। एक से पांच साल की मियादी जमा पर 7 से 7.8 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा जिसका भुगतान तिमाही आधार पर होगा। वही पांच साल की आवर्ती जमा (आरडी) पर ब्याज दर 7.3 प्रतिशत होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।