अफगानिस्तान को गेहूं भेजने पर समझौते के करीब पाकिस्तान, भारत: रिपोर्ट

Imran Khan
एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार ने कहा कि दोनों देश तौर-तरीकों पर सहमत हो गए हैं और पाकिस्तान द्वारा अफगान ठेकेदारों और ड्राइवरों की सूची को मंजूरी देने के बाद गेहूं की भेजने का काम शुरू हो जाएगा।

इस्लामाबाद| भारत ने पाकिस्तान सरकार को अफगान ठेकेदारों और ट्रक ड्राइवरों की एक सूची प्रदान की है जो मानवीय सहायता के रूप में 50,000 टन गेहूं की भारतीय खेप को अफगानिस्तान तक पहुंचाएंगे।

इस संदर्भ में दोनों पड़ोसी देश समझौते को अंतिम रूप देने के करीब हैं। बृहस्पतिवार को एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार ने कहा कि दोनों देश तौर-तरीकों पर सहमत हो गए हैं और पाकिस्तान द्वारा अफगान ठेकेदारों और ड्राइवरों की सूची को मंजूरी देने के बाद गेहूं की भेजने का काम शुरू हो जाएगा।

भारत ने अक्टूबर में मानवीय सहायता के रूप में अफगानिस्तान के लिए 50,000 टन गेहूं देने की घोषणा की और पाकिस्तान से वाघा सीमा के जरियेखाद्यान्न भेजने का अनुरोध किया।

मौजूदा समय में, पाकिस्तान केवल अफगानिस्तान को भारत को माल निर्यात करने की अनुमति देता है, लेकिन सीमा पार से किसी अन्य दो-तरफा व्यापार की अनुमति नहीं देता है।

हालांकि, इमरान खान सरकार ने पिछले महीने यहां नव स्थापित अफगानिस्तान अंतर-मंत्रालयी समन्वय प्रकोष्ठ की पहली शीर्ष समिति की बैठक के दौरान इस नियम के अपवाद के रूप में यह घोषणा की कि पाकिस्तान, अपने क्षेत्र के रास्ते भारत को युद्धग्रस्त देश, अफगानिस्तान में गेहूं भेजने की अनुमति देगा।

हालांकि, पाकिस्तान ने कहा कि यह निर्णय, अफगानिस्तान में मानवीयता की स्थिति को ध्यान में रखते हुए लिया गया है और इसे भविष्य में ऐसी किसी खेप को भेजने के लिए मिसाल के बतौर नहीं लिया जाना चाहिए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़