कोरोना के कारण ऑटो इंडस्‍ट्री को लगा झटका, मई में यात्री वाहनों की ब्रिकी 66 प्रतिशत घटी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 11, 2021   14:03
  • Like
कोरोना के कारण ऑटो इंडस्‍ट्री को लगा झटका, मई में यात्री वाहनों की ब्रिकी 66 प्रतिशत घटी

सियाम के आंकड़ों के अनुसार, डीलरों को दोपहिया की आपूर्ति 65 प्रतिशत घटकर 3,52,717 इकाई रह गई, जो अप्रैल में 9,95,097 इकाई रही थी। मोटरसाइकिलों की बिक्री 56 प्रतिशत घटकर 2,95,257 इकाई रह गई।

नयी दिल्ली। कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन की वजह से डीलरों को आपूर्ति प्रभावित होने से अप्रैल की तुलना में मई में यात्री वाहनों की बिक्री 66 प्रतिशत घटकर 88,045 इकाई रह गई। वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। इस साल अप्रैल में यात्री वाहनों की बिक्री 2,61,633 इकाई रही थी। सियाम के आंकड़ों के अनुसार, डीलरों को दोपहिया की आपूर्ति 65 प्रतिशत घटकर 3,52,717 इकाई रह गई, जो अप्रैल में 9,95,097 इकाई रही थी। मोटरसाइकिलों की बिक्री 56 प्रतिशत घटकर 2,95,257 इकाई रह गई।

इसे भी पढ़ें: भारत बायोटेक को बड़ा झटका, अमेरिका में कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की नहीं मिली इजाजत

अप्रैल में 6,67,841 मोटरसाइकिलें बिकी थीं। इसी तरह मई में स्कूटर बिक्री 83 प्रतिशत घटकर 50,294 इकाई रह गई, जो इस साल अप्रैल में 3,00,462 इकाई रही थी। तिपहिया की बिक्री 13,728 इकाई से घटकर 1,251 इकाई रह गई। विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की बिक्री मई में 65 प्रतिशत घटकर 4,42,013 इकाई रह गई, जो अप्रैल में 12,70,458 इकाई रही थी। सियाम के महानिदेशक राजेश मेनन ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के मामले बढ़ने की वजह से विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन था। इसके चलते मई में वाहनों की बिक्री और उत्पादन प्रभावित हुआ। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कई वाहन विनिर्माताओं ने औद्योगिक इस्तेमाल वाली ऑक्सीजन को मेडिकल इस्तेमाल को स्थानांतरित करने को अपने विनिर्माण संयंत्रों को बंद भी किया। इससे भी मई में बिक्री पर असर पड़ा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept