पीरामल कैपिटल इस साल 100 नई शाखाएं खोलेगी,तीन वर्ष में 1,000 नए शहरों में उतरेगी

Piramal Capital open 100 new branches year enter 1000 new cities in three years
डीएचएफएल के अधिग्रहण के बाद 10 लाख से अधिक ग्राहकों का आधार हासिल कर चुकी पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस (पीसीएचएफएल) की आने वाले वर्षों में 1,000 शहरों में विस्तार की योजना है।

नयी दिल्ली। डीएचएफएल के अधिग्रहण के बाद 10 लाख से अधिक ग्राहकों का आधार हासिल कर चुकी पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस (पीसीएचएफएल) की आने वाले वर्षों में 1,000 शहरों में विस्तार की योजना है। पीसीएचएफएल ने सितंबर, 2021 में कर्ज में डूबी आवास वित्त कंपनी डीएचएफएल का अधिग्रहण पूरा किया था। इसके साथ ही वह देश में आवास ऋण मुहैया कराने वाली देश की बड़ी कंपनियों में शुमार हो गई है। कंपनी ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि अब उसका नेटवर्क देश के 24 राज्यों में फैल चुका है जहां पर मौजूद 301 शाखाओं की मदद से वह 10 लाख से अधिक ग्राहकों को सेवा मुहैया करा रही है।

इसे भी पढ़ें: पट्टे पर दफ्तर जगह की मांग 2021 में दो प्रतिशत बढ़ी, 2019 के मुकाबले 45 प्रतिशत कम

पीसीएचएफएल छोटे शहरों एवं कस्बों में भी अपनी मौजूदगी बढ़ाने के लिए अगले तीन वर्षों में करीब 1,000 नए शहरों में अपना विस्तार करने की योजना बना रही है। इस योजना के तहत वर्ष, 2022 में वह 100 नई शाखाएं खोलने की तैयारी में है। पीसीएचएफएल के प्रबंध निदेशक जयराम श्रीधरन ने इसकी जानकारी देते हुए कहा, ‘‘हमने दोनों कंपनियों का विलय पूरा कर एक समेकित इकाई का गठन कर लिया है। इस दौरान किसी भी कर्मचारी की छंटनी नहीं की गई। अब हम अपनी सभी शाखाओं से कारोबार पैदा करने की दिशा में काम कर रहे हैं।’’

इसे भी पढ़ें: श्रीलंका ने एक अरब डॉलर के राहत पैकेज की घोषणा की, कर्ज डिफाल्ट न करने की घोषणा

श्रीधरन ने कहा कि अधिग्रहण के बाद कंपनी के कर्ज वितरण में विविधता की स्थिति बन पाई है और खुदरा ऋण पोर्टफोलियो भी बढ़ा है। उन्होंने कहा, ‘‘हम छोटे शहरों एवं कस्बों के ग्राहकों तक पहुंचने की कोशिश करेंगे। इस दौरान वेतनभोगी एवं गैर-वेतनभोगी तबके दोनों पर नजर होगी।’’ पीसीएचएफएल का फिनटेक कंपनियों, मर्चेंट और इलेक्ट्रॉनिक एग्रिगेटर का एक व्यापक आधार तैयार करने का इरादा है। फिलहाल उसकी नौ साझेदारियां हैं और नया कारोबार हासिल करने के लिए 20 अन्य प्रौद्योगिकी फर्मों के साथ भागीदारी की योजना है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़