रिलायंस ने ब्रिटिश बैटरी निर्माता फैराडियन का 10 करोड़ पाउंड में अधिग्रहण किया

Anil Ambani
कंपनी ने एक बयान में कहा कि रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (आरएनईएसएल) ने फैराडियन लिमिटेड में 100 फीसदी हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए 10 करोड़ पाउंड का समझौता किया है। कंपनी विकास पूंजी के रूप में इसमें अतिरिक्त 2.5 करोड़ पाउंड का निवेश करेगी।

नयी दिल्ली|  उद्योगपति मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने ब्रिटेन की बैटरी निर्माता कंपनी फैराडियन लिमिटेड को 10 करोड़ पाउंड में खरीदने की शुक्रवार को घोषणा की।

रिलायंस इंडस्ट्रीज कई अरब डॉलर की अपनी स्वच्छ ऊर्जा परियोजनाओं के लिए ‘ऐंड टू ऐंड’ प्रौद्योगिकी की निरंतर खरीद कर रही है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (आरएनईएसएल) ने फैराडियन लिमिटेड में 100 फीसदी हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए 10 करोड़ पाउंड का समझौता किया है। कंपनी विकास पूंजी के रूप में इसमें अतिरिक्त 2.5 करोड़ पाउंड का निवेश करेगी।

ब्रिटेन में शेफील्ड और ऑक्सफोर्ड से संचालित तथा सोडियम आयन बैटरी प्रौद्योगिकी का पेटेंट रखने वाली फैराडियन दुनिया की अग्रणी बैटरी प्रौद्योगिकी कंपनियों में शामिल है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने आरएनईएसएल के माध्यम से 10 अक्टूबर से अनेक अधिग्रहण और रणनीतिक निवेश किए हैं जिनका उद्देश्य उसके हरित ऊर्जा कारोबार को आकार देना है।

बयान में कहा गया, ‘‘फैराडियन की सोडियम आयन प्रौद्योगिकी अन्य वैकल्पिक बैटरी तकनीकों, विशेष रूप से लिथियम आयन और लैड एसिड प्रौद्योगिकियों की तुलना में अधिक लाभकारी है।’’

इन लाभों में कोबाल्ट, लिथियम, कॉपर या ग्रेफाइट पर निर्भरता नहीं होना शामिल है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़