रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, वृहद आंकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Sep 30 2018 1:56PM
रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, वृहद आंकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा
Image Source: Google

विशेषज्ञों का कहना है कि विनिर्माण और सेवा क्षेत्र के लिए पीएमआई आंकड़ों से भी कारोबारी धारणा प्रभावित होगी। निवेशकों की निगाह गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) पर भी रहेगी। यह क्षेत्र नकदी संकट से जूझ रहा है।

नयी दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति बैठक के नतीजे, वृहद आर्थिक आंकड़ों, रुपये की चाल तथा कच्चे तेल की कीमतों से इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा तय होगी। विशेषज्ञों ने यह राय प्रकट की है। गांधी जयंती पर मंगलवार को बाजार बंद रहेंगे। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘बाजारों में कमजोरी की धारणा उस समय तक जारी रहेगी जब तक कि वित्तीय बाजारों में स्थिरता नहीं आती है।’’ रिजर्व बैंक शुक्रवार को ब्याज दरों का ऐलान करेगा। 

भाजपा को जिताए
पिछली मौद्रिक समीक्षा बैठक में केंद्रीय बैंक ने प्रमुख नीतिगत दर रेपो दर को चौथाई प्रतिशत बढ़ाकर 6.50 प्रतिशत कर दिया था।  एपिक रिसर्च के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुस्तफा नदीम ने कहा, ‘‘रिजर्व बैंक के नीतिगत दरों पर फैसले सबसे महत्वपूर्ण रहेगा। इस पर सभी की निगाह होगी।’’ विशेषज्ञों का कहना है कि विनिर्माण और सेवा क्षेत्र के लिए पीएमआई आंकड़ों से भी कारोबारी धारणा प्रभावित होगी। निवेशकों की निगाह गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) पर भी रहेगी। यह क्षेत्र नकदी संकट से जूझ रहा है। 
 
विशेषज्ञों ने कहा कि रुपये का उतार-चढ़ाव तथा कच्चे तेल की कीमतें भी बाजार की दिशा के लिए महत्वपूर्ण होंगी। सैमको सिक्योरिटीज के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत मोदी ने कहा, ‘‘आगे चलकर चीजें बेहतर होंगी क्योंकि कंपनियों के दूसरी तिमाही के नतीजे आने शुरू हो जाएंगे। रिजर्व बैंक यदि चौथी द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में ब्याज दरों में चौथाई प्रतिशत की और वृद्धि करता है, तो इसका बाजार पर प्रभाव देखने को मिलेगा।’’ 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video