छोटे किसानों को सिंचाई, उर्वरक, कम लागत पर सुरक्षित बाजार मिलने चाहिए: आर के सिंह

 Raj Kumar Singh
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Common
रूस से तेल खरीदना जारी रखने के बारे में भारत की आलोचना के जवाब में नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री ने कहा कि भारत द्वारा रूस से खरीदा जा रहा तेल, यूरोप द्वारा खरीदे जा रहे तेल का केवल एक छोटा हिस्सा था और दूसरों को उपदेश देने से पहले पश्चिम को रूसी तेल की खरीद पूरी तरह बंद करनी चाहिए।

दावोस। केंद्रीय मंत्री राज कुमार सिंह ने बुधवार को कहा कि विकसित देशों को विकासशील देशों में छोटे किसानों की मदद कर खाद्य व्यवस्था में बदलाव की बात करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मदद में मुख्य रूप से सिंचाई, उर्वरक और बाजार तक सस्ती पहुंच शामिल हैं। रूस से तेल खरीदना जारी रखने के बारे में भारत की आलोचना के जवाब में नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री ने कहा कि भारत द्वारा रूस से खरीदा जा रहा तेल, यूरोप द्वारा खरीदे जा रहे तेल का केवल एक छोटा हिस्सा था और दूसरों को उपदेश देने से पहले पश्चिम को रूसी तेल की खरीद पूरी तरह बंद करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: Ashok Leyland श्रीलंका परिवहन बोर्ड को 500 बसों की आपूर्ति करेगी

सिंह ने यहां विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की वार्षिक बैठक 2023 में एक चर्चा के दौरान कहा कि भारत सौर जल पंपों और हरित अमोनिया के साथ किसानों को उनके कार्बन उत्सर्जन को कम करने में मदद कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत किसानों को लाखों सौर जल पंप दे रहा है और जल्द ही अमोनिया आधारित उर्वरकों के आयात को रोकने के लिए पर्याप्त मात्रा में हरित अमोनिया का उत्पादन करेगा। यह पूछे जाने पर कि अंतरराष्ट्रीय विरोध के बावजूद भारत रूस से सस्ती गैस का आयात क्यों कर रहा है, सिंह ने कहा कि भारत एक महीने में रूस से जितनी गैस का आयात करता है, उससे अधिक यूरोप एक दिन में करता है। उन्होंने पूछा, भारत का अपने उत्तरी पड़ोसी के साथ संघर्ष था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़