पंजाब में गन्ने का एसएपी बढ़ाकर 380 रुपये प्रति क्विंटल किया गया

Sugarcane
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
मान ने कहा कि किसानों को गन्ने के एसएपी के तहत पिछले साल की तुलना में 20 रुपये प्रति क्विंटल अतिरिक्त मिलेगा। इस निर्णय से राज्य सरकार किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए सालाना 200 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च करेगी।

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने गन्ने की कीमत 360 रुपये से बढ़ाकर 380 रुपये प्रति क्विंटल करने की घोषणा की है। उन्होंने सोमवार को अपने राज्य विधानसभा के संक्षिप्त सत्र के समापन के दिन गन्ने के राज्य परामर्श मूल्य (एसएपी) में बढ़ोतरी की घोषणा की। तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने अगस्त, 2021 में गन्ने के एसएपी में 50 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की थी। इसके बाद गन्ने की कीमत 360 रुपये प्रति क्विंटल हो गई थी।

मान ने कहा कि किसानों को गन्ने के एसएपी के तहत पिछले साल की तुलना में 20 रुपये प्रति क्विंटल अतिरिक्त मिलेगा। इस निर्णय से राज्य सरकार किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए सालाना 200 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च करेगी। मान ने कहा कि राज्य के किसान फसल विविधीकरण के तहत गन्ने की फसल को बड़ी बेसब्री से अपनाना चाहते हैं, लेकिन पर्याप्त कीमत न मिलने और फसल का समय पर भुगतान न होने के कारण वे हिचकिचाहट दिखाते रहे हैं।

उन्होंने कहा पंजाब में अभी महज 1.25 लाख हेक्टेयर जमीन पर गन्ने की खेती होती है, जबकि चीनी मिलों की कुल पेराई क्षमता करीब 2.50 लाख हेक्टेयर है। इसी के चलते गन्ने का एसएपी बढ़ाने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री ने भुगतान की वर्तमान स्थिति के बारे में सदन को सूचित करते कहा कि सहकारी चीनी मिलों ने पहले ही किसानों का पूरा बकाया चुका दिया है, लेकिन दो निजी चीनी मिलों ने अभी तक बकाया का भुगतान नहीं किया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़