टाटा स्टील ने थाइसेनक्रुप के साथ संयुक्त उद्यम स्थापित करने को दी मंजूरी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 30 2018 4:45PM
टाटा स्टील ने थाइसेनक्रुप के साथ संयुक्त उद्यम स्थापित करने को दी मंजूरी
Image Source: Google

टाटा स्टील के निदेशक मंडल ने जर्मन कंपनी थाइसेनक्रुप एजी के साथ संयुक्त उद्यम स्थापित करने को अपनी मंजूरी दे दी। इसके तहत दोनों कंपनियों के यूरोपीय कारोबार को मिलाकर एक संयुक्त कंपनी का निर्माण किया जाएगा।

नयी दिल्ली। टाटा स्टील के निदेशक मंडल ने जर्मन कंपनी थाइसेनक्रुप एजी के साथ संयुक्त उद्यम स्थापित करने को अपनी मंजूरी दे दी। इसके तहत दोनों कंपनियों के यूरोपीय कारोबार को मिलाकर एक संयुक्त कंपनी का निर्माण किया जाएगा। टाटा स्टील ने आज इसकी जानकारी दी। विश्व की दो प्रमुख इस्पात कंपनियों के बीच बनाने वाला यह संयुक्त उद्यम लक्ष्मी निवास मित्तल की आर्सेलरमित्तल के बाद यूरोप की दूसरी सबसे बड़ी इस्पात कंपनी होगी।

टाटा स्टील ने बंबई शेयर बाजार को बताया कि टाटा स्टील के निदेशक मंडल ने 50:50 प्रतिशत हिस्सेदारी वाला संयुक्त उद्यम स्थापित करने की शर्तों को मंजूरी दे दी है, जिससे टाटा स्टील और थाइसेनक्रुप एजी का यू रोपीय इस्पात कारोबार एक हो जाएगा। साथ ही बाध्यकारी समझौते के प्रस्तावों को भी अपनाया है। इससे पहले दोनों कंपनियों ने सितंबर 2017 में संयुक्त उद्यम स्थापित करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे।

कंपनी ने कहा कि बाध्यकारी समझौतों की शर्तों पर औपचारिक रूप से अमल करने का काम जल्द शुरू होने की उम्मीद है। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष सितंबर में टाटा स्टील और थाइसेनक्रुप एजी ने अपने यूरोपीय इस्पात कारोबार को मिलाने और एक नया संयुक्त उद्यम स्थापित करने का एलान किया था।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story