वर्ष 2022 तक ऑनलाइन वीडियो प्रसारण का घरेलू बाजार 5,363 करोड़ जाने का अनुमान

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 9 2019 6:24PM
वर्ष 2022 तक ऑनलाइन वीडियो प्रसारण का घरेलू बाजार 5,363 करोड़ जाने का अनुमान
Image Source: Google

इस तरह की नयी सेवा को ओवर दी टॉप (ओटीटी) सेवा कहा जाता है। इस क्षेत्र की कंपनियों में नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम, यूट्यब आदि प्रमुख हैं।

नयी दिल्ली। ऑनलाइन वीडियो सामग्रियां प्रसारित करने वाली कंपनियों का घरेलू बाजार वर्ष 2022 तक 5,363 करोड़ रुपये का हो सकता है। एसोचैम और पीडब्ल्यूसी के एक संयुक्त अध्ययन में बृहस्पतिवार को यह कहा गया। इस तरह की नयी सेवा को ओवर दी टॉप (ओटीटी) सेवा कहा जाता है। इस क्षेत्र की कंपनियों में नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम, यूट्यब आदि प्रमुख हैं।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: ई-नीलामी के जरिये कोल इंडिया का कोयला आबंटन 38 प्रतिशत घटा

‘वीडियो ऑन डिमांड: एंटरटेनमेंट रीइमेजिन्ड’ नामक इस अध्ययन में कहा गया कि घरेलू ओटीटी बाजार वर्ष 2022 तक 5,363 करोड़ रुपये के साथ शीर्ष 10 वैश्विक बाजारों में शामिल हो जाएगा। अध्ययन के अनुसार वर्ष 2017 से 2022 के बीच घरेलू ओटीटी बाजार सालाना 22.6 प्रतिशत की दर से वृद्धि करेगा जबकि वैश्विक बाजार के लिये यह औसत 10.1 प्रतिशत है।
अध्ययन के अनुसार इस कारोबारी मॉडल को आगे बढ़ाने वाले पांच मुख्य कारकों में निर्बाध कनेक्टिविटी, वीडियो सामग्रियों के उपभोग में मोबाइल डिवाइस की बढ़ती हिस्सेदारी, पारंपरिक राजस्व माध्यमों से इतर पलायन, सामग्री बनाने वालों की जगह प्लेटफॉर्म की तरफ मूल्य का स्थानांतरण और उपभोक्ता केंद्रित सामग्री की उपलब्धता शामिल है। उल्लेखनीय है कि देश में स्मार्टफोन धारकों की संख्या 2017 के 46.80 करोड़ से बढ़कर वर्ष 2022 तक 85.90 करोड़ डॉलर पर पहुंच जाने का अनुमान है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप