अर्थव्यवस्था में सुधार की रफ्तार उम्मीद से तेज, 5,000 अरब डॉलर अर्थव्यवस्था के लक्ष्य पर कायम: मोदी

Modi
प्रधानमंत्री ने भरोसा जताया कि भारत को 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य हासिल किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि संकट ने सरकार को उन सुधारों को आगे बढ़ाने का अवसर दिया, जो दशकों से लंबित थे।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था उम्मीद से कहीं ज्यादा तेजी से पटरी पर आ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के विभिन्न राहत उपायों से समाज के सभी तबकों और आर्थिक क्षेत्रों को कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न समस्याओं का सामना करने में मदद मिली है। प्रधानमंत्री ने भरोसा जताया कि भारत को 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य हासिल किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि संकट ने सरकार को उन सुधारों को आगे बढ़ाने का अवसर दिया, जो दशकों से लंबित थे।

मोदी ने अखबार एकोनॉमिक टाइम्स से बातचीत में कहा, ‘‘कोयला, कृषि, श्रम, रक्षा, नागर विमानन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में सुधारों को आगे बढ़ाया गया है। इससे हमें उस उच्च वृद्धि दर के रास्ते पर लौटने में मदद मिलेगी, जहां हम संकट से पहले थे।’’ कोविड-19 टीके के बारे में उन्होंने कहा कि जब भी टीका उपलब्ध होगा, सभी देशवासियों को उपलब्ध कराया जाएगा। हालांकि इसमें सबसे पहले, उन लोगों पर ध्यान दिया जाएगा जिनमें संक्रमण का खतरा ज्यादा है और जो कोरोना के दौरान आगे बढ़कर काम रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और जापान के बीच हुए सहयोग ज्ञापन को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री ने यह बात दोहरायी कि कोरोना वायरस के बचाव में अभी शिथिलता की गुंजाइश नहीं होनी चाहिए। इससे बचाव का एकमात्र रास्ता मास्क पहनना, बार-बार हाथ धोना और आपास में दूरी का पालन करने जैसे एहतियाती उपाय हैं। उन्होंने कहा कि यह नया वायरस है। जिन देशों ने शुरू में इसे नियंत्रण कर लिया था, वहां अब फिर से संक्रमण फैलने की खबरें आ रही हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़