• पहले मनाए छुट्टिया और बाद में करे भुगतान! जानिए इस ट्रैवल एजेंसी के अनोखे स्कीम के बारे में

ट्रैवल एजेंसियों SOTC और थॉमस कुक ने हॉलिडे फर्स्ट एंड पे व्हेन यू रिटर्न(holiday first and pay when you return) स्कीम लॉन्च की है जिसके तहत ग्राहक घूमने के बाद और अच्छे से छुट्टी मनाने के बाद ही भुगतान करेगा।

ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर को कोरोना महामारी के सबसे कठिन दौर से गुजरना पड़ रहा है। अप्रैल और मई महीने इन सेक्टरों के लिए काफी खराब रहे। अब जब हालात सुधरें है तो ट्रेवल और हॉस्पेटिलिटि सेक्टर अब यात्रियों को आकर्षित करने के लिए नए इनोवेटिव आइडिया लेकर आई है। टीओआई में छपी एक खबर के मुताबिक, ट्रैवल एजेंसियों SOTC और थॉमस कुक ने "हॉलिडे फर्स्ट एंड पे व्हेन यू रिटर्न"(holiday first and pay when you return) स्कीम लॉन्च की है जिसके तहत ग्राहक घूमने के बाद और अच्छे से छुट्टी मनाने के बाद ही भुगतान करेगा। बता दें कि इन दोनों कपंनियों ने एनबीएफसी यानि की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी के साथ पार्टनरशिप की है ताकि ट्रेवलर्स का डर दूर हो सके और ज्यादा से ज्यादा बिक्री को बढ़ावा दिया जा सके।

इसे भी पढ़ें: शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 33 पैसे टूटा

बता दें कि पिछले साल भारतीय यात्रियों के सामने प्रमुख मुद्दे सामने आए जिसमें अचानक से अगर बुकिंग रद्द करना पड़ जाए तो क्या होगा? रिफंड में देरी हो तो क्या होगा? बता दें कि इन्ही पर्मुख मुद्दों पर ट्रैवल एजेंसी SOTC और थॉमस कुक संबोधित करना चाहते है ताकि आने वाले समय में यात्रियों को इससे संबधित कोई भी परेशान का सामना न करना पड़े। 16 जून को घोषित की गई इस स्कीम में, COVID-19 महामारी के दौरान बुकिंग यात्राओं के वित्तीय जोखिम के अलावा स्वास्थ्य और स्वच्छता से संबंधित मुद्दों को भी एजेंसी संबोधित करेगी। थॉमस कुक इंडिया के अध्यक्ष और समूह प्रमुख अब्राहम अलापट्ट, ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि इस स्कीम का लाभ उठाने वाले ग्राहकों की NBFC सबसे पहले क्रेडिट योग्यता की जांच करेगा जिसके मुताबिक, अच्छी क्रेडिट योग्यता वाले लोगों को अपने अपने डोमेस्टिक पैकेज की लागत का 15-20 प्रतिशत और एनबीएफसी को वापसी पर शेष राशि का भुगतान बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के करना होगा, अगर ग्राहक पूरा अमाउंट का भुगतान एक बार में करता है। अगर ग्राहक ईएमआई में भुगतान करना चाहता है तो उसको केवल उस स्थिति में एनबीएफसी ब्याज वसूल करेगी। 

अगर पैसे लौटाने में आई दिक्कत तो?

बता दें कि जो लोग अपनी छुट्टी से लौटने पर भुगतान करने में विफल हो जाते है तो, उन पर ऋण चूककर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। इसके साथ ही यह उनकी क्रेडिट योग्यता में भी असर करेगा और भविष्य में लोन प्राप्त करने पर इसका सीधा प्रभाव पड़ सकता है।