टॉपर ने 1,100 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

Toppr
Google Creative Commons.
कंपनी के एक कर्मचारी ने पीटीआई-को बताया, ‘‘मैं रसायन शास्त्र विषय पढ़ाता हूं। मेरी पूरी टीम की छंटनी कर दी गयी है। टॉपर ने इस्तीफा देने को वालों को एक महीने का वेतन देने का वादा किया। ऐसा नहीं करने वालों को कोई वेतन नहीं दिया जाएगा।’’

नयी दिल्ली| शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी बायूज समूह की इकाई टॉपर ने इस सप्ताह 1,100 कर्मचारियों को नौकरी से हटा दिया है। यह कंपनी के कुल कार्यबल का करीब 36 प्रतिशत है। निर्णय से प्रभावित कुछ कर्मचारियों ने यह जानकारी दी है।

टॉपर के बर्खास्त कर्मचारियों ने कहा कि उन्हें सोमवार को कंपनी से ‘कॉल’ आया और इस्तीफा देने को कहा गया। ऐसा नहीं करने पर बिना नोटिस के नौकरी से हटाने की बात कही गयी।

कंपनी के एक कर्मचारी ने पीटीआई-को बताया, ‘‘मैं रसायन शास्त्र विषय पढ़ाता हूं। मेरी पूरी टीम की छंटनी कर दी गयी है। टॉपर ने इस्तीफा देने को वालों को एक महीने का वेतन देने का वादा किया। ऐसा नहीं करने वालों को कोई वेतन नहीं दिया जाएगा।’’

टॉपर के सह-संस्थापक जीशान हयात को उनके व्हाट्सएप पर सवाल भेजकर इस बारे में जानकारी मांगी गयी, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया। बायजू ने टॉपर का पिछले साल जुलाई में 15 करोड़ डॉलर में अधिग्रहण किया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़