एच-1बी वीजाधारकों को नौकरी देने वाली टेनेसी वैली अथॉरिटी ने छोड़ी आउटसोर्सिंग की योजना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 28, 2020   12:24
एच-1बी वीजाधारकों को नौकरी देने वाली टेनेसी वैली अथॉरिटी ने छोड़ी आउटसोर्सिंग की योजना

रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में कहा टेनेसी वैली अथॉरिटी (टीवीए) का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी योजना को छोड़ दिया है। इस सम्मेलन में रिपब्लिकन पार्टी ने ट्रंप को दोबारा राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में चुना।

वाशिंगटन।अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि टेनेसी वैली अथॉरिटी ने सैकड़ों अमेरिकी कर्मचारियों की छंटनी करने और कम वेतन वाले विदेशी कर्मचारियों को उनकी जगह नौकरी देने की योजना को उनके हस्तक्षेप के बाद छोड़ दिया है। उन्होंने रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में कहा टेनेसी वैली अथॉरिटी (टीवीए) का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी योजना को छोड़ दिया है। इस सम्मेलन में रिपब्लिकन पार्टी ने ट्रंप को दोबारा राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में चुना। टीवीए ने अपनी योजना के तहत सैकड़ों कर्मचारियों को निकाल दिया था और उनकी जगह विदेशी एच-1बी वीजाधारकों को नौकरी दी थी, जिनमें से ज्यादातर भारतीय थे।

इसे भी पढ़ें: Tik Tok की बोली लगाने में शामिल हुई अमेरिका की ये 2 दिग्गज कंपनियां

हालांकि, ट्रंप ने अपनी भाषण में भारत या एच-1बी वीजा का जिक्र नहीं किया। ट्रंप ने कहा, ‘‘जब मुझे पता चला कि टेनेसी वैली अथॉरिटी ने सैकड़ों अमेरिकी कामगारों को हटा दिया है और उन्हें कम वेतन वाले विदेशी कामगारों को प्रशिक्षित करने के लिए मजबूर किया है, तो मैंने तुरंत बोर्ड के अध्यक्ष को हटा दिया।’’ ट्रंप ने आगे कहा, ‘‘अब, उन प्रतिभाशाली अमेरिकी श्रमिकों को फिर से काम पर रखा गया है... उनके पास अपनी पुरानी नौकरियां हैं और कुछ आज शाम हमारे साथ हैं।’’ टीवीए के बोर्ड के अध्यक्ष जेम्स थॉम्पसन ने कहा था कि वह 20 प्रतिशत नौकरियों को विदेशी श्रमिकों के जरिए आउटसोर्स करेंगे, जिनमें से अधिकांश भारत के थे। इसके बाद इस महीने की शुरुआत में ट्रंप ने उन्हें पद से हटा दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।