द्विपक्षीय कारोबार को 500 अरब डॉलर तक पहुंचाने के लिए अमेरिका और भारत को करने होंगे बड़े लक्ष्य तय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2022   13:33
द्विपक्षीय कारोबार को 500 अरब डॉलर तक पहुंचाने के लिए अमेरिका और भारत को करने होंगे बड़े लक्ष्य तय

पिछले वर्ष वह भारत में अमेरिकी मिशन में दूतावास प्रभारी रहे और बाइडन प्रशासन के कार्यकाल के पहले वर्ष में उन्होंने भारत-अमेरिकी संबंधों को आकार देने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कहा, ‘‘वैश्विक कारोबार एजेंडा पर आगे बढ़ने की जरूरत है।

वाशिंगटन। अमेरिका भारत बिजनेस काउंसिल (यूएसआईबीसी) के नए अध्यक्ष अतुल केशप ने कहा है कि अपने संबंधों में उल्लेखनीय प्रगति कर चुके अमेरिका और भारत को इन्हें नए स्तर पर ले जाने तथा द्विपक्षीय कारोबार में 500 अरब डॉलर का महत्वाकांक्षी लक्ष्य हासिल के लिए बड़े लक्ष्य तय करने चाहिए। केशप ने कहा, ‘‘यह दर्शाना आवश्यक है कि अमेरिका और भारत वैश्विक वृद्धि के वाहक हो सकते हैं, 21वीं सदी में समद्धि और वृद्धि के मॉडल हो सकते हैं।’’

इसे भी पढ़ें: BMW कंपनी ने भारत में लॉन्च की X3 एसयूवी, कीमत 59.9 लाख रुपये से शुरू

उन्होंने अमेरिकी राजनयिक रहने के दौरान विदेश विभाग में विभिन्न पदों पर काम किया। पिछले वर्ष वह भारत में अमेरिकी मिशन में दूतावास प्रभारी रहे और बाइडन प्रशासन के कार्यकाल के पहले वर्ष में उन्होंने भारत-अमेरिकी संबंधों को आकार देने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कहा, ‘‘वैश्विक कारोबार एजेंडा पर आगे बढ़ने की जरूरत है। हमें भविष्य की समृद्धि सुनिश्चित करनी होगी ...विशेषकर इस वैश्विक महामारी के बाद।’’ उन्होंने कहा कि इस नई भूमिका में वह द्विपक्षीय कारोबार को 500 अरब डॉलर करने के लक्ष्य को प्राप्त करने में मददगार बनना चाहते हैं। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार भारत और अमेरिका के बीच 2020-21 में कुल द्विपक्षीय कारेाबार 80.5 अरब डॉलर था, 2019-20 में यह 88.9 अरब डॉलर था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।