• अमेरिका ने भारत में निर्मित सिल्डेनाफिल साइट्रेट की 23,000 गोलियां जब्त की, वियाग्रा दवा के लिए होता था इस्तेमाल

अधिकारियों ने कहा कि इन गोलियों को सिनसिनाटी इलाके में जब्त किया गया। उल्लेखनीय है कि अमेरिका खाद्य एवं दवा प्रशासन नेṁ नुस्खे वाली दवाएं प्रतिबंधित की हुई हैं। इन दवाओं को उचित दस्तावेज और लेबलिंग के बिना अमेरिका में आयात नहीं की जा सकता।

वाशिंगटन। अमेरिका के सीमा शुल्क अधिकारियों ने भारत में निर्मित सिल्डेनाफिल साइट्रेट की 23,000 से अधिक गोलियां जब्त की हैं। अधिकारियों के अनुसार इन गोलियों का इस्तेमाल वियाग्रा दवा बनाने के लिए किया जाता है और इनकी खुदरा कीमत 7,12,756 डॉलर बताई जा रही हैं। अमेरिकी सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा (सीबीपी) के अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि इन गोलियों का वजन करीब 20 किलो है।

इसे भी पढ़ें: ACTL 2022 तक जम्मू-कश्मीर के पहले माल ढुलाई टर्मिनल का निर्माण करेगी

गोलियों की पैकिंग के अनुसार इन्हें भारत में बनाया गया और अमेरिका के जॉर्जियो में भेजा जाना था। अधिकारियों ने कहा कि इन गोलियों को सिनसिनाटी इलाके में जब्त किया गया। उल्लेखनीय है कि अमेरिका खाद्य एवं दवा प्रशासन ने नुस्खे वाली दवाएं प्रतिबंधित की हुई हैं। इन दवाओं को उचित दस्तावेज और लेबलिंग के बिना अमेरिका में आयात नहीं की जा सकता।