60% हिस्सेदारी के साथ लार्सन और टूब्रो माइंडट्री के प्रमोटर बने

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 4 2019 3:10PM
60% हिस्सेदारी के साथ लार्सन और टूब्रो माइंडट्री के प्रमोटर बने
Image Source: Google

नालंदा इंडिया फंड और नालंदा इंडिया इक्विटी फंड ने हाल में खुली पेशकश में माइंडट्री लि. में अपनी बहुलांश हिस्सेदारी बेच दी है। यह खुली पेशकश लार्सन एंड टूब्रो ने की जो 60.06 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ अब बेंगलुरू की आईटी कंपनी माइंडट्री की प्रवर्तक है।

नयी दिल्ली। इंजीनियरिंग सहित विविध कारोबार करने वाली लार्सन एण्ड टुब्रो (एल एण्ड टी) ने आखिरकार सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनी माइंडट्री पर नियंत्रण पा ही लिया है। एलएण्डटी को बुधवार को माइंडट्री का प्रवर्तक मान लिया गया है। नालंदा इंडिया फंड और नालंदा इंडिया इक्विटी फंड ने हाल में खुली पेशकश में माइंडट्री लि. में अपनी बहुलांश हिस्सेदारी बेच दी है। यह खुली पेशकश लार्सन एंड टूब्रो ने की जो 60.06 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ अब बेंगलुरू की आईटी कंपनी माइंडट्री की प्रवर्तक है।

इसे भी पढ़ें: माइंडट्री समिति ने L & T की 980 रुपये प्रति शेयर की खुली पेशकश को बताया ‘उचित एवं तार्किक’

सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी ने बुधवार को नियामकीय सूचना में कहा कि एल एंड टी ने कंपनी में 60.06 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ नियंत्रणकारी हिस्सेदारी हासिल कर ली है और उसे प्रवर्तक के रूप में श्रेणीबद्ध किया गया है। यह मामला इस लिहाज से महत्वपूर्ण है कि शुरू में माइंडट्री के संस्थापकों ने लार्सन के जबरन अधिग्रहण बोली का विरोध किया था और बड़े निवेशकों को समर्थन देने की कोशिश की थी। सूचना के अनुसार लार्सन एंड टूब्रो ने कंपनी की कुल शेयरधारिता का 60.06 प्रतिशत का अधिग्रहण कर लिया है और उसे प्रवर्तक के रूप में श्रेणीबद्ध किया गया है। खुली पेशकश की समाप्ति पर दो जुलाई की स्थिति के अनुसार एल एण्ड टी के पास माइंडट्री में 9.87 करोड़ शेयर हो गये हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप