जोमैटो मामला: मुंबई डब्बावाला संघ ने ग्राहक की आलोचना की

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Aug 2 2019 11:44AM
जोमैटो मामला: मुंबई डब्बावाला संघ ने ग्राहक की आलोचना की
Image Source: Google

उन्होंने पूछा, यह ग्राहक तब क्या करता जब वह बहुत ज्यादा भूखा होता और किसी अन्य धर्म का व्यक्ति उसके लिये भोजन लाता? उन्होंने एक बयान में कहा, हम डिलीवरी बॉय अलग धर्म का होने की वजह से ऑर्डर रद्द करने की इस हरकत की निंदा करते हैं।

मुंबई। मुंबई डब्बावाला संघ ने  गैर-हिंदू  से डिलीवरी लेने से इनकार करने वाले जबलपुर के जोमैटो ग्राहक की बृहस्पतिवार को आलोचना की। यह संघ मुंबई में मशहूर टिफिन अथवा भोजन का डब्बा पहुंचाने वालों का प्रतिनिधित्व करता है। मध्य प्रदेश के जबलपुर में ग्राहक अमित शुक्ला ने दो दिन पहले ट्विटर पर दावा किया था कि उसने जोमैटो के भोजन की डिलीवरी लेने से इसलिये इनकार कर दिया क्योंकि उसे डिलीवरी पहुंचाने का काम एक मुसलमान को दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र में दो लोगों से जबरदस्ती लगवाया गया जय श्रीराम का नारा

पांच हजार सदस्यों वाले डब्बावाला संघ के प्रवक्ता सुभाष तालेकर ने कहा कि जोमैटो का प्रतिनिधि अपनी आजीविका कमाने के लिये काम कर रहा था। उन्होंने पूछा, यह ग्राहक तब क्या करता जब वह बहुत ज्यादा भूखा होता और किसी अन्य धर्म का व्यक्ति उसके लिये भोजन लाता? उन्होंने एक बयान में कहा, हम डिलीवरी बॉय अलग धर्म का होने की वजह से ऑर्डर रद्द करने की इस हरकत की निंदा करते हैं।

इसे भी पढ़ें: अपने पुरुष कर्मचारियों को भी 26 सप्ताह का अवकाश देगा zomato



डिलीवरी करने वाला हिंदू-मुस्लिम कोई भी हो सकता है। वह अपनी आजीविका के लिये अपना काम करता है। ऐसे कामगारों का कोई धर्म नहीं होता।  

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप