जडेजा के शतक के बाद बुमराह की अगुवाई में गेंदबाजों के दम पर भारत ने बनाया दबदबा

Bumrah
ANI Photo.
बुमराह ने नाबाद 31 रन की पारी के दौरान बल्ले से एक ओवर में 29 रन बनाने का रिकॉर्ड कायम किया और फिर इंग्लैंड के शुरूआती तीनों विकेट झटके, जिससे मेजबान टीम ने दिन का खेल खत्म होने तक 27 ओवर में 84 रन पर पांच विकेट गंवा दिये।

बर्मिंघम| दिग्गज हरफनमौला रविन्द्र जडेजा (104) की शतकीय पारी के बाद भारतीय कप्तान जसप्रीत बुमराह के बल्ले और गेंद से कमाल के दम पर भारत ने पांचवें क्रिकेट टेस्ट के बारिश से प्रभावित दूसरे दिन शनिवार को यहां पहली पारी में इंग्लैंड के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेजकर अपनी स्थिति मजबूत कर ली।

बुमराह ने नाबाद 31 रन की पारी के दौरान बल्ले से एक ओवर में 29 रन बनाने का  रिकॉर्ड कायम किया और फिर इंग्लैंड के शुरूआती तीनों विकेट झटके, जिससे मेजबान टीम ने दिन का खेल खत्म होने तक 27 ओवर में 84 रन पर पांच विकेट गंवा दिये।  

स्टंप्स के समय जॉनी बेयरस्टो (12) के साथ कप्तान बेन स्टोक्स (शून्य) क्रीज पर मौजूद थे।भारत ने पहली पारी में 416 रन बनाये जिससे इंग्लैंड की टीम अब भी 332 रन पीछे है।

बुमराह ने दिन के शुरुआती सत्र में एलेक्स लीस (छह रन) को बोल्ड करने के बाद दूसरे सत्र में जैक क्रॉली (नौ) और ओली पोप (10) को अपने तीसरे और छठे ओवर की ‘सातवीं’ गेंद पर स्लिप में कैच कराया। क्रॉली का कैच शुभमन गिल जबकि पोप का कैच श्रेयस अय्यर ने लपका। आखिरी सत्र में दिन का सबसे अहम विकेट मोहम्मद सिराज ने लिया।

उन्होंने शानदार लय में चल रहे पूर्व कप्तान जो रूट की 67 गेंद में 31 रन की पारी को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया। इसके बाद मोहम्मद शमी को एक छोर से लगातार अच्छी गेंदबाजी करने का फल रात्रिप्रहरी जैक लीच के विकेट के रूप में मिला।

शमी की गेंद पर विराट कोहली ने स्लिप में लीच का कैच टपका दिया लेकिन अगले ओवर इस गेंदबाज ने उन्हें खाता खोले बगैर पंत के हाथों लपकवाया। बुमराह ने 16 गेंद में 31 रन की नाबाद पारी खेली और उनके बल्ले से निकले आतिश को एजबेस्टन के दर्शक बरसों तक याद रखेंगे।

उन्होंने स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में बल्ले से रिकॉर्ड 29 रन निकाले जबकि छह अतिरिक्त समेत उस ओवर में 35 रन बने। बतौर कप्तान अपने पहले मैच में बुमराह ने टेस्ट मैच के एक ओवर में सर्वाधिक 28 रन बनाने का ब्रायन लारा का 18 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया।

उन्होंने तलवार की तरह बल्ले का इस्तेमाल किया और ब्रॉड को चार चौके और दो छक्के लगाये। भारत के नौवें, दसवें और 11वें नंबर के बल्लेबाजों ने 93 रन का योगदान दिया।

यह बुमराह की हरफनमौला खेल का प्रभाव इतना ज्यादा था कि उसने जडेजा की शतकीय पारी की चमक को कम कर दिया। सुबह जडेजा ने संभल कर दिन की शुरूआत करते हुए अपना तीसरा शतक पूरा किया और अपनी पारी में उन्होंने 13 चौके जड़े। टेस्ट क्रिकेट में 2500 रन और 242 विकेट लेने वाले जडेजा को कपिल देव के बाद भारत का सर्वश्रेष्ठ हरफनमौला माना जा सकता है।

टेस्ट क्रिकेट में उनका बल्लेबाजी औसत 37 से अधिक का है। इंग्लैंड के लिये जेम्स एंडरसन ने 60 रन देकर पांच विकेट लिये। अगले महीने 40 साल के होने वाले एंडरसन से टेस्ट पारी में 32वीं बार पांच या अधिक विकेट चटाकाये। इस दौरान ब्रॉड ने 550 टेस्ट विकेट पूरे किये।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़