मुश्किल में खिलाड़ी बटलर और मोर्गन, भारतीयों के खिलाफ नस्लीय टिप्पणी मामले में हो सकती है कार्रवाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 9, 2021   14:51
  • Like
मुश्किल में खिलाड़ी बटलर और मोर्गन, भारतीयों के खिलाफ नस्लीय टिप्पणी मामले में हो सकती है कार्रवाई

भारतीयों का मजाक उड़ाने वाली कथित नस्लीय टिप्पणियों के लिये इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) अपनी राष्ट्रीय टीम के सीमित ओवरों के कप्तान इयोन मोर्गन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर की जांच कर रहा है।

लंदन। भारतीयों का मजाक उड़ाने वाली कथित नस्लीय टिप्पणियों के लिये इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) अपनी राष्ट्रीय टीम के सीमित ओवरों के कप्तान इयोन मोर्गन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर की जांच कर रहा है। ईसीबी ने प्रासंगिक और उचित कार्रवाई का वादा करते हुए कहा कि प्रत्येक मामले में व्यक्तिगत आधार पर विचार किया जाएगा। बटलर और मोर्गन ने इन पोस्ट में भारतीयों का मजाक उड़ाने के लिये सर का उपयोग किया है।

इसे भी पढ़ें: लार्ड डलहौजी के नाम पर बसे शहर के नाम को बदलने को लेकर सियासत तेज

ओली रॉबिनसन को 2012—13 में आपत्तिजनक ट्वीट के लिये निलंबित किये जाने के बाद बटलर और मोर्गन के ट्वीट की सोशल मीडिया पर चर्चा होने लगी थी। टेलीग्राफ.सीओ.यूक की रिपोर्ट के अनुसार, बटलर के संदेश (मैसेज) का स्क्रीनशॉट भी साझा किया गया है​ जिसमें उन्होंने कहा है, मैं सर नंबर एक को हमेशा यही जवाब देता हूं, मेरे जैसा, आप जैसा, मेरे जैसा।

इसे भी पढ़ें: समय से टैक्स न भर पाने पर कंगना रनौत का बयान, बॉलीवुड में काम न मिलने के कारण देरी हुई

मोर्गन ने बटलर को टैग करके एक संदेश में लिखा, सर आप मेरे पसंदीदा बल्लेबाज हो। बटलर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में राजस्थान रॉयल्स के लिये खेलते हैं जबकि मोर्गन कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान हैं। रिपोर्ट में कहा गया है, इन ट्वीट के सटीक संदर्भ पर हालांकि सवालिया निशान लगा है लेकिन ये ऐसे समय में लिखे गये जबकि बटलर और मोर्गन इंग्लैंड के स्थापित खिलाड़ी बन चुके थे और ऐसे में उन्होंने सोशल मीडिया में ऐसी आपत्तिजनक बातें की। ईसीबी ने कहा कि इस मामले से उचित तरीके से नि​बटा जाएगा। ईसीबी प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा, हमें पिछले सप्ताह आपत्तिजनक ट्वीट को लेकर सतर्क किया गया था, इसलिए अन्य खिलाड़ियों के पुराने सोशल मीडिया पोस्ट पर भी सार्वजनिक रूप से सवाल उठाये गये हैं। उन्होंने कहा, हमारे खेल में भेदभाव के लिये कोई जगह नहीं है और जहां आवश्यक हो, हम प्रासं​गिक और उचित कार्रवाई करने के लिये प्रतिबद्ध हैं।

प्रवक्ता ने कहा, सभी मामलों में तमाम तथ्यों को ध्यान में रखते हुए व्यक्तिगत आधार पर विचार किया जाएगा। हम इस बारे में आगे टिप्पणी करने से पहले ईसीबी बोर्ड के साथ मामलों का आकलन करेंगे। तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन का 2010 का समलैंगिकता से जुड़ा एक ट्वीट भी सामना आया है। एंडरसन ने ब्रिटिश मीडिया से कहा, मेरे लिये यह 10—11 साल पुरानी बात है और निश्चित तौर पर मैं एक व्यक्ति के रूप में बदल गया हूं। मुझे लगता है कि यही मुश्किल है। चीजें बदलती हैं, आप गलतियां करते हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा टेस्ट मैच खेलने पर एंडरसन इंग्लैंड की तरफ से सर्वाधिक टेस्ट खेलने वाले क्रिकेटर बन जाएंगे। उन्होंने कहा कि टीम इस तरह के मामलों को लेकर चिंतित है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

खेल

झरोखे से...

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept