साउथ अफ्रीका सीरीज गंवाने के बाद विराट कोहली ने छोड़ी कप्तानी, बोले- मैंने पूरी ईमानदारी के साथ किया काम

साउथ अफ्रीका सीरीज गंवाने के बाद विराट कोहली ने छोड़ी कप्तानी, बोले- मैंने पूरी ईमानदारी के साथ किया काम

साउथ अफ्रीका से सीरीज गंवाने के बाद विराट कोहली ने भारतीय टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया। उन्होंने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। आपको बता दें कि टी20 विश्व कप से पहले विराट कोहली ने क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया था। इसके बाद उन्होंने एकदिवसीय की भी कप्तानी छोड़ दी थी।

नयी दिल्ली। साउथ अफ्रीका से सीरीज गंवाने के बाद विराट कोहली ने भारतीय टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया। उन्होंने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। आपको बता दें कि टी20 विश्व कप से पहले विराट कोहली ने क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया था। इसके बाद उन्होंने एकदिवसीय की भी कप्तानी छोड़ दी थी।  

इसे भी पढ़ें: साउथ अफ्रीका में कोहली ब्रिगेड भी हुई नाकाम, 30 साल में 7 कप्तानों ने की जोर आजमाइश, नहीं हो पाया कोई भी सफल 

विराट कोहली ने कहा कि पिछले 7 साल से लगातार कड़ी मेहनत और हर रोज टीम को सही दिशा में पहुंचाने की कोशिश रही। मैंने अपना काम पूरी ईमानदारी के साथ किया और कोई भी कसर नहीं छोड़ी। हर सफर का एक अंत होता है, मेरे लिए टेस्ट की कप्तानी को खत्म करने का यही सही वक्त है। इस सफर में कई उतार-चढ़ाव भी आए हैं, लेकिन कोशिश या विश्वास की कमी कभी नहीं रही। 

उन्होंने कहा कि मैं हमेशा अपने हर काम में अपना 120 प्रतिशत देने की कोशिश की है और अगर मैं ऐसा नहीं कर सकता तो मैं समझता हूं कि यह करना सही नहीं है। इस फैसले को लेकर मेरे दिल में पूर्ण स्पष्टता है और मैं अपनी टीम के प्रति बेईमान नहीं हो सकता हूं। 

इसे भी पढ़ें: भारत ने 7 विकेट से गंवाया केपटाउन टेस्ट, साउथ अफ्रीका ने 2-1 से जीती सीरीज

विराट कोहली ने कहा कि मैं बीसीसीआई को धन्यवाद कहता हूं कि उन्होंने मुझे इतने लंबे समय तक देश की कप्तानी करने का मौका दिया। इसी के साथ ही उन्होंने पूर्व कोच रवि शास्त्री और टीम के बाकी खिलाड़ियों का भी शुक्रियाअदा किया। उन्होंने अपने संदेश के अंत में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह का आभार जताया।

टेस्ट कॅरियर

बतौर कप्तान विराट कोहली के नाम सबसे ज्यादा टेस्ट मुकाबले जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है। उन्होंने 68 मुकाबलों में से 40 पर जीत दर्ज की। जबकि 17 मुकाबलों में टीम को हार का सामना करना पड़ा और 11 मुकाबले ड्रॉ हुए। कोहली के बाद बतौर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नाम 27 मुकाबलों जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है। वहीं, विराट कोहली ने अबतक कुल 99 टेस्ट मुकाबले खेले हैं, जिनमें उन्होंने 50.39 के औसत से 7962 महत्वपूर्ण रन बनाए हैं। इसमें 7 दोहरे शतक, 27 शतक और 28 अर्धशतकीय पारियां शामिल हैं।