उम्मीद है कि अपना अंतिम टी20 मैच चेन्नई में खेलूंगा : धोनी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   08:35
उम्मीद है कि अपना अंतिम टी20 मैच चेन्नई में खेलूंगा : धोनी

पूर्व भारतीय कप्तान ने 2019 के बाद से चेन्नई में कोई मैच नहीं खेला है क्योंकि आईपीएल का 2020 चरण संयुक्त अरब अमीरात में खेला गया था जबकि इस चरण का पहला सत्र साल के शुरू में मुंबई में खेला गया था जिसके बाद इसे ‘बायो-बबल’ में कोविड-19 मामले आने के बाद निलंबित कर दिया गया था।

चेन्नई| चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने शनिवार को दोहराया कि उनका अंतिम टी20 मैच चेन्नई में ही होगा लेकिन साथ ही कहा कि वह नहीं जानते कि ‘यह अगले साल होगा या फिर पांच साल बाद’।

पिछले महीने संयुक्त अरब अमीरात में चेन्नई सुपर किंग्स को चौथा इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खिताब दिलाने वाले कप्तान धोनी ने पहले स्पष्ट किया था कि वह कम से कम एक और सत्र तक अपनी पसंदीदा पीली जर्सी पहनेंगे और प्रशंसक निश्चित रूप से उन्हें अपने पसंदीदा चेपक स्टेडियम में अपना ‘विदाई मैच’ खेलते हुए देखेंगे।

इसे भी पढ़ें: बीसीआई की जिम्मेदारी कानूनी पेशे की गरिमा बनाये रखना और गौरव बहाल करना: शीर्ष अदालत

चेन्नई सुपर किंग्स के आईपीएल खिताब जीतने के जश्न में शनिवार को यहां आयोजित कार्यक्रम में धोनी ने कहा, ‘‘मैंने हमेशा अपने क्रिकेट की योजना बनायी है। मैंने अपना अंतिम मैच रांची में खेला था। वनडे में अंतिम घरेलू मैच रांची में मेरे गृहनगर में था। इसलिये उम्मीद करता हूं कि मेरा अंतिम टी20 मैच चेन्नई में होगा। यह अगले साल होगा या फिर पांच साल के समय बाद, हम नहीं जानते। ’’

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन, इंडिया सीमेंट्स के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक एन श्रीनिवासन, महान आल राउंडर कपिल देव, बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) सचिव जय शाह और आईपीएल चेयरमैन ब्रिजेश पटेल की उपस्थिति में धोनी ने कहा कि सीएसके के प्रशंसकों ने टीम को उस समय भी आगे बढ़ने के लिये प्रेरित किया जब दो साल आईपीएल में उनकी टीम अच्छा नहीं कर सकी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘पूरी तरह से यह सीएसके के प्रशंसकों की वजह से है, जो तमिलनाडु से बाहर और भारत की सीमाओं से बाहर भी हैं। हम जहां भी खेलते हैं - भले ही बेंगलुरू हो, जोहानिसबर्ग हो या फिर दुबई, हमें उनका पूर्ण समर्थन मिला है। यहां तक की हमारे खराब दौर में भी, जब हम आईपील में दो साल अच्छा नहीं कर सके और इस दौरान जब सोशल मीडिया पर सीएसके के बारे में सबसे ज्यादा बात की गयी। ’’

धोनी ने प्रक्रिया में भरोसा जताये रखने पर जोर दिया और कहा कि इससे आईपीएल 2021 में मजबूती से वापसी करने में मदद मिली जबकि 2020 में टीम का सफर काफी खराब रहा था जिसमें टीम पहली बार प्लेऑफ के लिये क्वालीफाई नहीं कर सकी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘2008 से हमारा प्रदर्शन काफी शानदार रहा था, जब यह फ्रेंचाइजी क्रिकेट में आयी थी। लेकिन 2020 में यह दिलचस्प रहा, यह पहला सत्र रहा जिसमें हम आईपीएल के अगले चरण के लिये क्वालीफाई नहीं कर सके थे। ’’

धोनी ने कहा, ‘‘इससे हमें फ्रेंचाइजी के वास्तविक चरित्र की परीक्षा लेने का मौका मिला। इसने हमें खिलाड़ियों और प्रशंसकों के सम्मान हासिल करने का मौका दिया। क्योंकि हम कहते हैं कि हम नतीजे में नहीं प्रक्रिया में भरोसा रखते हैं और 2020 में नतीजा हमारे पक्ष में नहीं गया। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें लोगों का सम्मान मिला। हमने मजबूती से वापसी की और हम इस साल खिताब जीतने में सफल रहे। ’’ धोनी ने साथ ही साथी क्रिकेटरों और बीसीसीआई के प्रशासकों को उनके प्रयासों के लिये शुक्रिया कहा।

चेन्नई में अपना टेस्ट पदार्पण करने वाले धोनी ने कहा, ‘‘यह बड़ा मंच है जहां मैं यहां बैठे सभी पूर्व क्रिकेटरों, साथी क्रिकेटरों और साथ ही बीसीसीआई के प्रशासकों का क्रिकेट के प्रति योगदान के लिये शुक्रिया कर सकता हूं। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘क्रिकेट बदलते समय के साथ बदल गया है, प्रारूप बदल गये हैं, लेकिन इनके कारण हम यहां खड़े हैं और क्रिकेट आगे बढ़ गया है। ’’

धोनी ने कहा, ‘‘चेन्नई के साथ मेरा सबसे यादगार जुड़ाव मेरा टेस्ट पर्दापण है। मैं कभी नहीं जानता था कि मुझे सीएसके द्वारा चुना जायेगा। मैं नीलामी में था और मुझे चुना गया और इससे मुझे चेन्नई की संस्कृति को समझने का मौका मिला। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि चेन्नई ने मुझे काफी सिखाया है, तमिलनाडु ने काफी कुछ सिखाया है कि कैसे व्यवहार किया जाये, कैसे खेल की प्रशंसा की जाये। चेन्नई में हमने जितने भी मैच खेले, सभी में प्रशंसकों ने हमारा समर्थन किया। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि सचिन (तेंदुलकर) पाजी जब भी मैदान में जाते तो उन्हें सबसे ज्यादा दर्शकों की तालियों की गड़गड़ाहट मिलती थी, भले ही वह मुंबई इंडियंस के लिये खेलते थे। ’’ शाह ने कहा कि कोई भी सीएसके को हल्के में कैसे ले सकता है जब उनके पास धोनी जैसा कप्तान हो।

शाह ने कहा, ‘‘वह सीएसके की धड़कन और रीढ़ हैं। माही भारत के सबसे सफल कप्तान हैं। उन्होंने जो रिश्ता बनाया है और जो विरासत खड़ी की है, वह वर्षों तक कायम रहेगी। ’’ उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि अगले साल आईपीएल भारत में खेला जायेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि आप लोग चेन्नई सुपर किंग्स को चेपक में खेलने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हो। यह क्षण भी ज्यादा दूर नहीं है, आईपीएल का 15वां चरण भारत में ही होगा और नयी टीमों के जुड़ने से यह और अधिक रोमांचक होगा। ’’

शाह ने कहा, ‘‘हमारी नीलामी आने वाली है, देखते हैं कि नया संयोजन कैसा दिखता है। ’’

श्रीनिवासन ने धोनी और उनकी नेतृत्व क्षमता की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि धोनी ने सीएसके में सुपरस्टार और अंतरराष्ट्रीय कप्तानों की अगुआई की और खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कराया।

उन्होंने कहा, ‘‘इतने सारे अंतरराष्ट्रीय कप्तान उनके नेतृत्व में खेले। यह हर जगह स्वीकार कर लिया गया है कि कोई भी खिलाड़ी धोनी के नेतृत्व में बेहतर से सर्वश्रेष्ठ करेगा। सीएसके प्रबंधन के लिये समस्या यह है कि इस पूरी टीम को कैसे वापस लाया जाये। ’’ मुख्यमंत्री स्टालिन ने तमिल में धोनी की प्रशंसा की और कहा कि वह सीएसके के कप्तान के बड़े प्रशंसक हैं।

स्टालिन ने कहा, ‘‘मैं यहां धोनी के प्रशंसक के तौर पर आया हूं। मेरा परिवार, मेरे पड़पौते (जो यहां हैं) उनके प्रशंसक हैं। मेरे पिता (पूर्व मुख्यमंत्री करुणानिधि) भी धोनी के बड़े प्रशंसक थे। ’’

पूर्व बीसीसीआई प्रमुख श्रीनिवासन ने कहा, ‘‘लोग धोनी की विरासत के बारे में बात करते हैं और वह कहां जा रहा है। वह कहीं नहीं गया है, वह अब भी हमारे साथ ही है। ’’

पूर्व भारतीय कप्तान ने 2019 के बाद से चेन्नई में कोई मैच नहीं खेला है क्योंकि आईपीएल का 2020 चरण संयुक्त अरब अमीरात में खेला गया था जबकि इस चरण का पहला सत्र साल के शुरू में मुंबई में खेला गया था जिसके बाद इसे ‘बायो-बबल’ में कोविड-19 मामले आने के बाद निलंबित कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: ईशान ‘हिट या मिस’ खिलाड़ी नहीं, उसका समय आयेगा: पूर्व कोच

अगर सूत्रों की मानें तो सीएसके अगली नीलामी के लिये तीन खिलाड़ियों को रिटेन (बरकरार रखेगा) करेगा जिसमें कप्तान धोनी, आल राउंडर रविंद्र जडेजा और सलामी बल्लेबाज रूतुराज गायकवाड़ शामिल होंगे। चालीस वर्षीय पूर्व भारतीय कप्तान ने पिछले साल अगस्त में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।