• जैमीसन को पांच विकेट, भारत 217 रन पर सिमटा, न्यूजीलैंड की सजग शुरुआत

जैमीसन ने 31 रन देकर पांच विकेट लिये जबकि नील वैगनर (40 रन देकर दो), ट्रेंट बोल्ट (47 रन देकर दो) और टिम साउदी (64 रन देकर एक) ने बाकी पांच विकेट निकाले। कीवी गेंदबाजों ने कोहली के लिये लगातार ऑफ स्टंप से बाहर गेंदबाजी करके उनकी एकाग्रता की परीक्षा ली जबकि रहाणे को उन्हें शार्ट पिच गेंदें करके उन्हें पुल शॉट खेलने के लिये ललचाया।

साउथम्पटन। लंबे कद के तेज गेंदबाज काइल जैमीसन ने अपने आठवें टेस्ट मैच में पांचवीं बार पारी में पांच विकेट लिये जिससे न्यूजीलैंड ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के तीसरे दिन रविवार को यहां भारत को 217 रन पर समेटने के बाद चाय काल तक बिना किसी नुकसान के 36 रन बनाये। भारतीय गेंदबाजों को कीवी गेंदबाजों की तरह स्विंग नहीं मिली लेकिन उन्होंने सीम का अच्छा उपयोग किया। न्यूजीलैंड की सलामी जोड़ी ने हालांकि भारतीयों को कोई मौका नहीं दिया और 21 ओवर तक दोनों छोर संभाले रखे। न्यूजीलैंड ने भारत के 217 रन के जवाब में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में तीसरे दिन रविवार को यहां अपनी पहली पारी में दो विकेट पर 101 रन बनाये। न्यूजीलैंड की टीम इस तरह से अभी भारत से 116 रन पीछे है जबकि उसके आठ विकेट बचे हुए हैं। स्टंप उखड़ने के समय कप्तान केन विलियमसन 12 रन पर खेल रहे थे जबकि रोस टेलर को अभी खाता खोलना है। भारत ने सुबह तीन विकेट पर 146 रन से आगे खेलना शुरू किया लेकिन 71 रन के अंदर बाकी बचें सातों विकेट गंवा दिये। इसका श्रेय न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों और कप्तान केन विलियमसन को जाता है जिन्होंने भारतीय बल्लेबाजों विशेषकर कप्तान विराट कोहली (142 गेंदों पर 44 रन) और उप कप्तान अजिंक्य रहाणे (119 गेंदों पर 49 रन) के लिये अच्छी तरह से जाल बिछाया। 

जैमीसन ने 31 रन देकर पांच विकेट लिये जबकि नील वैगनर (40 रन देकर दो), ट्रेंट बोल्ट (47 रन देकर दो) और टिम साउदी (64 रन देकर एक) ने बाकी पांच विकेट निकाले। कीवी गेंदबाजों ने कोहली के लिये लगातार ऑफ स्टंप से बाहर गेंदबाजी करके उनकी एकाग्रता की परीक्षा ली जबकि रहाणे को उन्हें शार्ट पिच गेंदें करके उन्हें पुल शॉट खेलने के लिये ललचाया। इस बीच विलियमसन ने गेंदबाजी में लगातार बदलाव भारतीयों को किसी भी गेंदबाज को समझने का अवसर नहीं दिया। भारत ने सुबह तीन विकेट पर 146 रन से आगे खेलना शुरू किया और पहले सत्र में चार विकेट के एवज में 65 रन जोड़कर लंच तक स्कोर सात विकेट पर 211 रन तक पहुंचाया। भारत के पुछल्ले बल्लेबाज नयी गेंद के सामने देर तक नहीं टिक पाये। न्यूजीलैंड ने लंच के बाद बाकी बचे तीनों विकेट 19 गेंद और छह रन के अंदर निकालकर भारतीय पारी का अंत किया। बादल छाये रहने के कारण बल्लेबाजी करना आसान नहीं था। कोहली अपने कल के स्कोर में एक भी रन नहीं जोड़ पाये। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के उनके साथी जैमीसन ने उन्हें काफी परेशानी में डाला। बोल्ट और जैमीसन ने उनके लिये ऑफ स्टंप से बाहर गेंद करना जारी रखा और कोहली भी उनकी रणनीति भांपकर इन गेंदों को छोड़ते रहे। ऐसे में जैमीसन की बेहतरीन लेंथ से की गयी गेंद उनके पैड से टकरायी और अंपायर की उंगली उठ गयी। 

इसे भी पढ़ें: WTC Final: खराब रोशनी के कारण दूसरे दिन का खेल समय से पहले खत्म, भारत का स्कोर 146-3

कोहली ने इस पर डीआरएस भी गंवाया। ऋषभ पंत (चार) ने 19 गेंद तक कोई रन नहीं बनाया और फिर मिडविकेट पर चौका जड़ा। इसके दो गेंद बाद जैमीसन की कोण लेती गेंद पर उन्होंने ड्राइव करने के प्रयास में तीसरी स्लिप में लैथम को कैच दे दिया। कोहली के साथ 61 रन की साझेदारी टूटने के बाद रहाणे को लग गया था कि रन गति तेज करने की जरूरत है। उन्होंने कुछ अच्छे शॉट खेले। रहाणे ने वैगनर की गेंद पर गलत टाइमिंग से पुल किया लेकिन बच गये। वैगनर ने फिर शार्ट पिच गेंद की और इस बार उन्होंने स्क्वायर लेग पर लैथम को कैच दे दिया। रहाणे पुल शॉट खेलने के जाल में फंसकर अर्धशतक से चूक गये। रविचंद्रन अश्विन (27 गेंदों पर 22 रन) ने कुछ उपयोगी रन बनाये लेकिन लंच से ठीक पहले टिम साउदी (64 रन देकर एक) ने उनका विकेट निकाल दिया। जैमीसन ने इशांत शर्मा (चार) और जसप्रीत बुमराह (शून्य) को आउट करके पांच विकेट लेने का कारनामा पूरा किया जबकि बोल्ट ने रविंद्र जडेजा (15) को आउट करके भारतीय पारी का अंत किया।