भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 1-0 से जीती सीरीज, मुंबई टेस्ट में स्पिनर्स का जलवा रहा बरकरार

भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 1-0 से जीती सीरीज, मुंबई टेस्ट में स्पिनर्स का जलवा रहा बरकरार

भारतीय स्पिनर्स ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को ताश के पत्तों की तरह बिखेर दिया। आर अश्विन और जयंत यादव ने 4-4 विकेट चटकाए। जबकि अक्षर पटेल ने एक विकेट हासिल किया है। अश्विन ने 22.3 ओवर में 34 रन देकर 4 विकेट हासिल किए हैं। इसी के साथ ही भारत ने लगातार 14 घरेलू सीरीज में जीत दर्ज की है।

मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए वानखेड़े टेस्ट को 372 रनों से जीत लिया है। यह भारतीय टेस्ट की सबसे बड़ी जीत है। इसी के साथ ही भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज को 1-0 से जीत लिया है। न्यूजीलैंड की टीम 540 रन के मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए अपनी दूसरी पारी में 167 रन पर आउट हो गई। भारत ने अपनी पहली पारी में 325 रन बनाए थे जिसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 62 रन पर सिमट गई थी। भारत ने अपनी दूसरी पारी 7 विकेट पर 276 रन बनाकर पारी घोषित कर दी।

स्पिनर्स का छाया जादू

भारतीय स्पिनर्स ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को ताश के पत्तों की तरह बिखेर दिया। आर अश्विन और जयंत यादव ने 4-4 विकेट चटकाए। जबकि अक्षर पटेल ने एक विकेट हासिल किया है। अश्विन ने 22.3 ओवर में 34 रन देकर 4 विकेट हासिल किए हैं। इसी के साथ ही भारत ने लगातार 14 घरेलू सीरीज में जीत दर्ज की है। वहीं विराट कोहली की अगुवाई वाली टेस्ट टीम एक भी घरेलू टेस्ट को गंवाया नहीं है।

कानपुर टेस्ट हुआ था ड्रा

भारत और न्यूजीलैंड के बीच में खेला गया पहला टेस्ट मुकाबला ड्रा हुआ था। इस मुकाबले में स्पिनर्स ने कमाल की गेंदबाजी की लेकिन कीवियों को ऑलआउट करने में असफल रहे थे। रवींद्र जडेजा, आर अश्विन और अक्षर पटेल की फिरकी के सामने बड़े से बड़ा कीवी बल्लेबाज नहीं टिक पाया था लेकिन युवा राचिन रवींद्र ने 91 गेंद खेलकर मुकाबले को भारत के हाथों से छीनकर ड्रा करा दिया था।

एजाज पटेल ने रचा इतिहास

मुंबई में जन्में बायें हाथ के स्पिनर ऐजाज पटेल ने एक पारी में सभी 10 विकेट चटकाकर इतिहास रचा है। इसी के साथ ही एजाज पटेल टेस्ट क्रिकेट के 144 साल के इतिहास में तीसरे गेंदबाज बने हैं। उन्होंने इंग्लैंड के जिम लेकर और भारत के अनिल कुंबले जैसे दिग्गजों की बराबरी कर ली। लेकर ने 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैनचेस्टर में यह कमाल किया था। जबकि कुंबले ने पाकिस्तान के खिलाफ दिल्ली में फरवरी 1999 में 10 विकेट झटके थे। इतना ही नहीं एजाज पटेल ने दूसरी पारी में 4 विकेट चटकाए।