चोटों की समस्याओं से घिरी भारतीय टीम ने ब्रिसबेन में शुरू किया प्रेक्टिस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 13, 2021   18:27
  • Like
चोटों की समस्याओं से घिरी भारतीय टीम ने ब्रिसबेन में शुरू किया प्रेक्टिस

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया, ‘‘सिडनी में शानदार जज्बा दिखाने के बाद फिर एकजुट होने का समय। हमने गाबा में अंतिम टेस्ट के लिये अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। ’’भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर लगातार चोटों का सामना करना पड़ रहा है।

ब्रिसबेन। चोटों की समस्याओं से जूझ रही भारतीय टीम ने बुधवार को यहां गाबा में अपने पहले अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया और उसे आस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट में 11 फिट खिलाड़ियों को उतारने की उम्मीद है। सिडनी में तीसरे टेस्ट में पेट की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण अंतिम टेस्ट से बाहर हुए तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह अब भी ट्रेनिंग सत्र के लिये भारतीय टीम के साथ हैं। रोहित शर्मा, शुभमन गिल, कप्तान अजिंक्य रहाणे और अन्य को उनकी ट्रेनिंग किट के साथ देखा गया। बुमराह ने हालांकि अभ्यास करने के हिसाब से कपड़े नहीं पहने हुए थे और वह गेंदबाजी कोच भरत अरूण के साथ चर्चा कर रहे थे। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया, ‘‘सिडनी में शानदार जज्बा दिखाने के बाद फिर एकजुट होने का समय। हमने गाबा में अंतिम टेस्ट के लिये अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। ’’

इसे भी पढ़ें: कोविड टेस्ट के बाद किदाम्बी श्रीकांत के नाक से बहा खून, BWF ने की थाईलैंड ओपन के आयोजकों से बात

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को नेट में गेंदबाजी करते हुए देखा गया। ऐसी उम्मीद है कि उन्हें मैच के लिये चुना जा सकता है क्योंकि हरफनमौला रविंद्र जडेजा अंगूठे में फ्रेक्चर के कारण नहीं खेलेंगे। तेज गेंदबाज शारदुल ठाकुर और हरफनमौला वाशिंगटन सुंदर भी अभ्यास सत्र का हिस्सा थे। गाबा में अंतिम एकादश में बुमराह की जगह टी नटराजन या शारदुल को उतारे जाने की उम्मीद है, जिससे मोहम्मद सिराज और नवदीप सैनी के साथ तेज गेंदबाजी आक्रमण नये स्वरूप में होगा। मुख्य कोच रवि शास्त्री अभ्यास के दौरान खिलाड़ियों के साथ थे और उन्होंने टीम के खिलाड़ियों से बातचीत भी की। वह सहयोगी स्टाफ के अपने साथियों के साथ भी बात करते हुए दिखे जिसमें अरूण के अलावा बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ और क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर शामिल थे।

इसे भी पढ़ें: मोटो रेसर संतोष की हालात में आया सुधार, जल्द हो सकती है भारत वापसी

भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर लगातार चोटों का सामना करना पड़ रहा है। टेस्ट श्रृंखला शुरू होने से पहले ही इशांत शर्मा और भुवनेश्वर कुमार चोटों के कारण बाहर हो गये थे। पहले टेस्ट में बांह में चोट के कारण मोहम्मद शमी भी श्रृंखला के बाकी मैचों में हिस्सा नहीं ले सके जबकि उमेश यादव पिंडली की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण अंतिम दो टेस्ट से बाहर हो गये। रविचंद्रन अश्विन और हनुमा विहारी दर्द के बावजूद भारत को सिडनी में ड्रा कराने में सफल रहे और अंतिम मैच में उनकी भागीदारी भी निश्चित नहीं है। विकेटकीपर ऋषभ पंत ने सिडनी में 97 रन की पारी खेली लेकिन पहली पारी में लगी चोट के कारण विकेटकीपिंग नहीं कर सके थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




स्मिथ की रवानगी, संजू सैमसन राजस्थान रॉयल्स के कप्तान, CSK ने रैना को बरकरार रखा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 20, 2021   19:29
  • Like
स्मिथ की रवानगी, संजू सैमसन राजस्थान रॉयल्स के कप्तान, CSK ने रैना को बरकरार रखा

आठों टीमों के लिये उन खिलाड़ियों की सूची देने की समय सीमा बुधवार तक की थी जिन्हें उन्होंने आईपीएल 14 में बरकरार रखा है या रवाना कर दिया है। सैमसन को राजस्थान रॉयल्स का कप्तान बनाया गया जबकि स्मिथ का अनुबंध बढाया नहीं गया है।

नयी दिल्ली। संजू सैमसन इंडियन प्रीमियर लीग के अगले सत्र में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान होंगे जबकि आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ समेत कई खिलाड़ियों के अनुबंधों का नवीनीकरण नहीं किया गया है हालांकि चेन्नई सुपर किंग्स ने अनुभवी सुरेश रैना को टीम में बरकरार रखा है। आठों टीमों के लिये उन खिलाड़ियों की सूची देने की समय सीमा बुधवार तक की थी जिन्हें उन्होंने आईपीएल 14 में बरकरार रखा है या रवाना कर दिया है। सैमसन को राजस्थान रॉयल्स का कप्तान बनाया गया जबकि स्मिथ का अनुबंध बढाया नहीं गया है। रॉयल्स के मालिक मनोज बदाले ने एक बयान में कहा ,‘‘आईपीएल के विस्तार के साथ कप्तानी पूरे साल का जिम्मा हो गया है और ऐसे में सक्षम भारतीय कप्तान होना जरूरी है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘संजू ने रॉयल्स के लिये ही पदार्पण किया था और पिछले आठ साल में उसकी प्रगति देखना सुखद रहा है।वह 2021 में टीम की कप्तानी के लिये सर्वश्रेष्ठ विकल्प है।’’ स्मिथ का करार अक्टूबर 2020 में खत्म हो गया था। आक्रामक बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल का किंग्स इलेवन पंजाब और आरोन फिंच का रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के साथ करार भी खत्म हो गया है।

पंजाब ने वेस्टइंडीज के हरफनमौला शेल्डन कोटरेल, अफगानिस्तान के मुजीबुर रहमान और न्यूजीलैंड के जिम्मी नीशाम के साथ करार भी नहीं बढाया है। चेन्नई सुपर किंग्स से हरभजन सिंह और मुंबई इंडियंस से लसिथ मलिंगा की भी रवानगी हो गई है। हरभजन के अलावा केदार जाधव , पीयूष चावला और मुरली विजय के साथ करार भी नहीं बढाया गया है। मुंबई ने शेरफान रदरफोर्ड के साथ करार का विस्तार नहीं किया जबकि दिल्ली टीम से इंग्लैंड के जैसन रॉय, विकेटकीपर एलेक्स कारे, लेग स्पिनर संदीप लामिछाने और तेज गेंदबाज मोहित शर्मा की रवानगी हो गई। स्मिथ की कप्तानी में राजस्थान रॉयल्स यूएई में खेले गए पिछले आईपीएल में आखिरी स्थान पर रही थी। स्मिथ ने सभी 14 लीग मैच खेले और 311 रन बनाये। टीम के खराब प्रदर्शन के कारण उनकी कप्तानी की काफी आलोचना हुई। आईपीएल 2018 से पहले रॉयल्स ने सिर्फ स्मिथ को टीम में बरकरार रखा था और 12 . 5 करोड़ रूपये का करार किया था। उन्हें कप्तान भी बनाया गया था लेकिन दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़खानी विवाद के बाद उन्हें पद छोड़ना पड़ा था। 

इसे भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में 50 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति दे सकता है बीसीसीआई

भारत के खिलाफ आस्ट्रेलिया में हाल ही में हुई श्रृंखला में स्मिथ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके। नये कप्तान सैमसन ने कहा,‘‘मैं इस चुनौती को लेकर काफी रोमांचित हूं।कई बेहतरीन खिलाड़ियों ने रॉयल्स की कप्तानी की है और मैने राहुल द्रविड़, शेन वाटसन, अजिंक्य रहाणे और स्टीव स्मिथ से काफी कुछ सीखा है।’’ महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई टीम में रैना को बरकरार रखा गया है जो पिछले सत्र में निजी कारणों से नहीं खेले थे। चेन्नई टीम 2008 के बाद पहली बार नॉकआउट चरण में जगह नहीं बना सकी। रैना चेन्नई के लिये सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं और बल्लेबाजी को मजबूत करने के लिये उन्हें बरकरार रखने का फैसला लिया गया। चेन्न्ई के पास पिछली नीलामी के बाद 15 लाख रूपये का बजट ही बचा था लेकिन अब अगले महीने होने वाली नीलामी से पहले उसके पास काफी पैसा हो गया है।पंजाब के पास 16 . 5 करोड़ रूपये हैं।रॉयल्स के पास 14 . 75 करोड़, सनराइजर्स हैदराबाद के पास 10 . 1 करोड़, दिल्ली कैपिटल्स के पास नौ करोड़, कोलकाता नाइट राइडर्स के पास 8 . 5 करोड़, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के पास 6 . 4 करोड़ और मुंबई इंडियंस के पास 1 . 95 करोड़ रूपये हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में 50 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति दे सकता है बीसीसीआई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 20, 2021   18:21
  • Like
इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में 50 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति दे सकता है बीसीसीआई

पहली बार खिलाड़ियों के कार्यभार को ध्यान में रखकर पूरी श्रृंखला के लिये टीम का ऐलान नहीं किया गया है। चेन्नई और अहमदाबाद में दो अलग अलग बायो बबल बनाये जायेंगे और टीमें चार्टर्ड फ्लाइट से यात्रा करेंगी।

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट बोर्ड के शीर्ष अधिकारी इंग्लैंड के खिलाफ चेपॉक और मोटेरा स्टेडियम में होने वाले टेस्ट मैचों में स्टेडियम की कुल क्षमता का 50 प्रतिशत दर्शकों को प्रवेश की अनुमति देने पर सोच रहे है। पहले दो टेस्ट चेन्नई में होंगे जबकि बाकी दो टेस्ट अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम पर खेले जायेंगे। इससे पहले क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ मंगलवार को खत्म हुई श्रृंखला के दौरान दर्शकों को मैदान में प्रवेश की अनुमति दी थी। बोर्ड के एक सीनियर सूत्र ने कहा ,‘‘ फिलहाल हम टेस्ट मैचों के लिये 50 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति दे सकते हैं। बीसीसीआई दोनों प्रदेश संघों और स्वास्थ्य अधिकारियों से बात कर रहा है।’’ 

इसे भी पढ़ें: BCCI भारतीय टीम को देगा बोनस, खिलाड़ियों को मिलेंगे इतने करोड़ रूपये

बीसीसीआई कोरोना मामलों पर भी नजर रखे हुए है और चेन्नई या अहमदाबाद में मामले बढने पर फैसला बदला भी जा सकता है। सूत्र ने कहा ,‘‘ अगर जरूरी सावधानियों के साथ 50 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति दी जाती है जो यह संकेत होगा कि आईपीएल के दौरान दर्शकों को प्रवेश दिया जा सकता है।’’ इस बीच इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड पहले दो टेस्ट के लिये टीम का चयन गुरूवार को करेगा। पहली बार खिलाड़ियों के कार्यभार को ध्यान में रखकर पूरी श्रृंखला के लिये टीम का ऐलान नहीं किया गया है। चेन्नई और अहमदाबाद में दो अलग अलग बायो बबल बनाये जायेंगे और टीमें चार्टर्ड फ्लाइट से यात्रा करेंगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




भारत से मिली हार के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम में ‘व्यापक फेरबदल’ संभव : वार्न

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 20, 2021   17:45
  • Like
भारत से मिली हार के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम में ‘व्यापक फेरबदल’ संभव : वार्न

वार्न ने ‘फॉक्स क्रिकेट’ से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस हार का बड़ा असर पड़ेगा। ऐसा अमूमन नहीं होता है जब आप दूसरे या तीसरे (विकल्प वाली) टीम से हार गये हो। ’’

ब्रिसबेन। महान क्रिकेटर शेन वार्न का मानना है कि भारत की अपेक्षाकृत कमजोर टीम से टेस्ट श्रृंखला में मिली शर्मनाक हार के बाद आस्ट्रेलियाई टीम में ‘व्यापक फेरबदल’ होगा। भारत ने मंगलवार को चौथे टेस्ट में आस्ट्रेलियाई टीम को तीन विकेट से हराकर यादगार जीत दर्ज की और श्रृंखला 2-1 से अपने नाम करते हुए बोर्डर-गावस्कर ट्राफी बरकरार रखी। वार्न ने ‘फॉक्स क्रिकेट’ से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस हार का बड़ा असर पड़ेगा। ऐसा अमूमन नहीं होता है जब आप दूसरे या तीसरे (विकल्प वाली) टीम से हार गये हो। ’’

इसे भी पढ़ें: शाकिब अल हसन के चार विकेट, बांग्लादेश ने विंडीज को 122 रन पर समेटा

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी (आस्ट्रेलिया की) रणनीति पर सवाल उठेंगे और उन्हें सवाल उठाने चाहिए। गेंदबाजों पर सवाल उठेंगे, खिलाड़ियों के टीम में स्थान पर सवाल उठाये जायेंगे। ऐसा होना चाहिए। आप इसने बच नहीं सकते और न ही इन्हें हटाकर कह सकते हो कि भारत हमसे काफी अच्छी टीम थी। ’’ वार्न ने हालांकि भारतीय टीम की प्रशंसा के पुल बांधे जिसने अपने खिलाड़ियों के चोटिल होने और नियमित कप्तान विराट कोहली की अनुपस्थिति में शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा, ‘‘जो भारतीय खिलाड़ी खेले, उनसे उनका श्रेय नहीं छीना जा सकता क्योंकि उनकी पहली चयनित टीम में से शायद दो या तीन खिलाड़ी ही ऐसे थे जो उस टीम में खेले थे। ’’

इसे भी पढ़ें: कोहली की कप्तानी को खतरा नहीं लेकिन भारतीय ड्रेसिंग रूम में बढा फैब फोर का कद

इस महान स्पिनर ने कहा कि आस्ट्रेलिया ने श्रृंखला में मौकों का फायदा नहीं उठाया। उन्होंने कहा, ‘‘हां, आस्ट्रेलिया को इस श्रृंखला को जीतने और भारत को रौंदने के लिये कई मौके मिले थे, लेकिन वे इनका फायदा नहीं उठा सके। वे ऐसा बिलकुल नहीं कर सके। ’’ वार्न ने टिम पेन की कप्तानी की भी काफी आलोचना की और कहा कि विकेटकीपर ने अपनी रणनीति की विफलता की जिम्मेदारी नहीं ली। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि कई बार उनकी रणनीति भी इतनी अच्छी नहीं रही और मुझे लगता है कि बतौर कप्तान यह जिम्मेदारी टिम पेन पर ही आयेगी। ’’ वार्न ने कहा, ‘‘यह सिर्फ टिम पेन की ही गलती नहीं है बल्कि गेंदबाजों को भी यह कहने की अनुमति दी गयी कि उन्होंने कहा, ‘टिम मैं यह करना चाहता हूं। ’ इसलिये यह गेंदबाजों और कप्तान के बीच संयोजन रहा। लेकिन दिन के अंत में आप कप्तान हो, आपको जिम्मेदारी लेनी होती है। वह निराश होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept