बल्लेबाजी में कुछ कमी, बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे: रोहित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2021   11:04
बल्लेबाजी में कुछ कमी, बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे: रोहित

शाहरूख खान ने मौके का फायदा उठाया है और आज बिश्नोई ने शानदार खेल दिखाया। अनिल भाई (कुंबले) ने रवि (बिश्नोई) के साथ काम किया और आज वह यहां पर शानदार रहा। उसने हमारी टीम को बड़े विकेट दिलाये।

चेन्नई। पंजाब किंग्स के खिलाफ नौ विकेट की करारी शिकस्त झेलने के बाद मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा ने शुक्रवार को यहां कहा कि पिच बल्लेबाजी के लिए ज्यादा मुश्किल नहीं थी लेकिन उनकी टीम एक बार फिर बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रही। रोहित की 52 गेंद में 63 रन की पारी के बाद भी मुंबई की टीम छह विकेट पर महज 131 रन बना सकी। पंजाब किंग्स ने 14 गेद शेष रहते आसानी से इस लक्ष्य को हासिल कर लिया। मुंबई इंडियन्स के कप्तान ने मैच के बाद पुरस्कार समारोह में कहा, ‘‘ हम ज्यादा बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे। मैं अब भी मानता हूं कि बल्लेबाजी के लिए यह विकेट ज्यादा मुश्किल नहीं है। आप देख रहे है कि (पंजाब) किंग्स ने कैसे नौ विकेट बचाकरजीत दर्ज की।’’ उन्होंने कहा कि टीम की बल्लेबाजी में कुछ कमी रह जा रही जिससे लगातार दूसरे मैच में प्रतिस्पर्धी स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे। 

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 से उबरे आलराउंडर अक्षर पटेल, दिल्ली कैपिटल्स से जुड़े

रोहित ने कहा, ‘‘ अगर आप 150-160 रन बनाते है तो आप मैच पर पकड़ बना सकते है। हम पिछले दो मैचों में ऐसा करने में नाकाम रहे। ’’ उन्होंने पंजाब के गेंदबाजों को श्रेय देते हुए कहा, ‘‘उनके गेंदबाजों ने पावर प्ले मेंअच्छी गेंदबाजी की। इशान किशन और मैं भी बड़ा शॉट लगाने की कोशिश कर रहे थे लेकिन हम सफल नहीं हुए। हमें मुश्किल परिस्थितियों में बेहतर बल्लेबाजी और गेंदबाजी के बारे में समझना होगा।’’ मैच में 60 रन की नाबाद पारी खेल मैन ऑफ द मैच बने लोकेश राहुल ने कहा अनुभवी क्रिस गेल के मैदान पर होने से चीजें आसान हो गयी। पंजाब के कप्तान ने कहा, ‘‘बीच के ओवरों में यहां सूखी गेंद के खिलाफ खेलना मुश्किल हो जाता है, लेकिन गेल ने इस ओर अच्‍छा आत्‍मविश्‍वास दिखाया, उन्‍हें पता है किस गेंदबाज के खिलाफ आक्रामक रूख अपनाना है।’’ 

इसे भी पढ़ें: जीत की पटरी पर लौटी पंजाब किंग्स, मुंबई इंडियंस को 9 विकेट से हराया

टॉस जीत कर गेंदबाजी का फैसला करने के बाद विशेषज्ञों ने राहुल की आलोचना की थी लेकिन उन्होंने मैच जीत कर सबको गलत साबित कर दिया। राहुल ने कहा, ‘‘मैंने कोच के साथ लंबी बात की थी कि टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करनी है। हमने सुना था कि यहां ओस रहेगी, यह नहीं पता था कि कितना रहेगी लेकिन यह अच्‍छा रहा। सूखी गेंद के खिलाफ हालांकि खेलना आसान नहीं था। एक रन चुराने में भी परेशानी हो रही थी। गेल की मौजूदगी से हालांकि चीजें आसान हो गयी।’’ उन्होंने सत्र में पहला मैच खेलने वाले युवा लेग स्पिनर रवि बिश्नोई की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ हमारी टीम में युवाओं ने अच्छा प्रदर्शन किया। दीपक हुड्डा अच्छा कर रहे है। शाहरूख खान ने मौके का फायदा उठाया है और आज बिश्नोई ने शानदार खेल दिखाया। अनिल भाई (कुंबले) ने रवि (बिश्नोई) के साथ काम किया और आज वह यहां पर शानदार रहा। उसने हमारी टीम को बड़े विकेट दिलाये।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

खेल

झरोखे से...