सीमित ओवरों के क्रिकेट की बजाय इशांत ने टेस्ट पर फोकस करना चुना : कोहली

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 23, 2021   17:39
सीमित ओवरों के क्रिकेट की बजाय इशांत ने टेस्ट पर फोकस करना चुना : कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट को लेकर ईशांत शर्मा की प्रतिबद्धता की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह चाहता तो कैरियर को लंबा करने के लिये सीमित ओवरों के क्रिकेट को चुन सकता था लेकिन उसने टेस्ट क्रिकेट चुना।

अहमदाबाद। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट को लेकर ईशांत शर्मा की प्रतिबद्धता की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह चाहता तो कैरियर को लंबा करने के लिये सीमित ओवरों के क्रिकेट को चुन सकता था लेकिन उसने टेस्ट क्रिकेट चुना। बत्तीस वर्ष के ईशांत इंग्लैंड के खिलाफ बुधवार से शुरू हो रहे दिन रात के तीसरे टेस्ट में उतरेंगे तो कपिल देव के बाद सौ टेस्ट खेलने वाले भारत के दूसरे तेज गेंदबाज बन जायेंगे।

इसे भी पढ़ें: सारदा घोटाला: सीबीआई की याचिका पर सुनवाई न्यायालय ने दो हफ्ते टाली

कोहली ने मैच से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,‘‘ आधुनिक क्रिकेट में यह बड़ी उपलब्धि है। अपनी फिटनेस बनाये रखना और सौ टेस्ट खेलना किसी तेज गेंदबाज के लिये आसान नहीं है। वह सीमित ओवरों के क्रिकेट को चुन सकता था लेकिन उसे इसका श्रेय जाता है कि उसने नहीं चुना।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ कई लोगों की प्रेरणा खत्म हो जाती है। उसके पास कौशल है और वह चाहता तो चार ओवर , दस ओवर का क्रिकेट और नियमित रूप से आईपीएल खेल सकता था। लेकिन टेस्ट क्रिकेट के प्रति वह पूरी तरह से समर्पित हो गया।’’ ईशांत ने आखिरी वनडे 2016 में और आखिरी टी20 मैच 2013 में खेला था। पुरानी यादें ताजा करते हुए कोहली ने कहा ,‘‘ मैं बरसों से ईशांत को जानता हूं। उसने मेरे साथ ही प्रदेश क्रिकेट खेलना शुरू किया था।

इसे भी पढ़ें: अफगानिस्तान में टीकाकरण अभियान की शुरुआत, भारत ने भेजी थी 500,000 खुराक

पहले सत्र से ही हम रूममेट थे और कई साल तक रणजी ट्रॉफी साथ खेले।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ जब उसका भारतीय टीम में चयन हुआ, तब वह दोपहर में गहरी नींद सो रहा था। मुझे उसे बिस्तर से गिराकर बताना पड़ा कि उसका चयन हो गया है।उसे भरोसा ही नहीं हुआ। हमने कहां से साथ शुरूआत की थी और आज वह सौवां टेस्ट खेलने की दहलीज पर है। मैं उसके लिये बहुत खुश हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।