तीसरे एशेज के अंतिम एकादश में स्टुअर्ट ब्रॉड को नहीं किया गया शामिल, माइकल वान ने जताई हैरानी

Stuart Broad
इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान ने कहा, ‘‘मैं स्टुअर्ट ब्रॉड जैसे अनुभवी गेंदबाज की बात कर रहा हूं। ब्रिसबेन की घसियाली पिच पर उसे नहीं चुना गया और फिर यहां भी उसका चयन नहीं किया गया।’’

मेलबर्न। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान ने रविवार को कहा कि यह बात उनकी समझ से परे है कि अनुभवी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को तीसरे एशेज टेस्ट की अंतिम एकादश में क्यों शामिल नहीं किया गया और उनका मानना है कि मेहमान टीम ने आस्ट्रेलिया में अब तक काफी कुछ गलत किया है। पांच मैचों की श्रृंखला में 0-2 से पीछे चल रहे इंग्लैंड ने रविवार से शुरू हुए तीसरे टेस्ट मैच की अंतिम एकादश में ब्रॉड और तीन अन्य खिलाड़ियों को नहीं रखा। वान ने ‘फॉक्स क्रिकेट’ से कहा, ‘‘मैं स्टुअर्ट ब्रॉड जैसे अनुभवी गेंदबाज की बात कर रहा हूं। ब्रिसबेन की घसियाली पिच पर उसे नहीं चुना गया और फिर यहां भी उसका चयन नहीं किया गया।’’ 

इसे भी पढ़ें: एशेज सीरीज में मिल रही हार के बाद बोले इंग्लैंड कोच सिल्वरवुड, मैं मानता हूं कि इंग्लैंड के कोच के लिए सही व्यक्ति हूं 

उन्होंने कहा, ‘‘आखिर इंग्लैंड ने स्टुअर्ट ब्रॉड जैसे अनुभवी गेंदबाज को ब्रिसबेन की घसियाली पिच और अब यहां मेलबर्न में क्यों नजरअंदाज किया। यह सच में चौंकाने वाला है।’’ वान ने कहा, ‘‘अब तक उन्होंने इस दौरे में एक ही सही काम किया है कि वे समय पर पहुंचते रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने सब कुछ गलत किया है फिर चाहे वह टीम का चयन हो या रणनीति।’’ उन्होंने कहा, ‘‘स्टुअर्ट ब्रॉड को यहां (मेलबर्न में) खेलना चाहिए था, उन्हें ब्रिसबेन में खेलना चाहिए था। अजीब विडंबना है कि स्टुअर्ट ब्रॉड घसियाली पिच पर डेविड वार्नर को ‘राउंड द विकेट’ गेंदबाजी नहीं कर पाएंगे। यह समझ से परे है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़