कोलकाता ने पंजाब को 5 विकेट से हराया, हासिल की दूसरी जीत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2021   23:12
कोलकाता ने पंजाब को 5 विकेट से हराया,  हासिल की दूसरी जीत

पंजाब की टीम शुरुआती ओवरों में ही अच्छी स्थिति में दिखी और इसके बाद उसने लगातार विकेट गंवाये। टीम अगर तिहरे अंक तक पहुंच पायी तो उसका श्रेय क्रिस जोर्डन को जाता है जिन्होंने अंतिम क्षणों में 18 गेंदों पर तीन छक्कों की मदद से 30 रन बनाये। प्रसिद्ध कृष्णा केकेआर के सबसे सफल गेंदबाज रहे।

कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) ने अपनी अनुशासित गेंदबाजी और कप्तान इयोन मोर्गन की फार्म में वापसी पर खेली गयी नाबाद पारी के दम पर सोमवार को यहां पंजाब किंग्स को 20 गेंद शेष रहते हुए पांच विकेट से हराकर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में लगातार चार हार के बाद पहली जीत दर्ज की। पंजाब किंग्स की यह चौथी हार है। इन दोनों टीमों के अब छह मैचों में चार-चार अंक हैं लेकिन केकेआर बेहतर रन गति के आधार पर पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। इससे पहले वह अंतिम स्थान पर था।

पंजाब किंग्स ने पहले बल्लेबाजी के लिये आमंत्रित किये जाने पर नौ विकेट पर 123 रन बनाये। सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने 34 गेंदों पर 31 रन की संघर्षपूर्ण पारी खेली लेकिन वह क्रिस जोर्डन थे जिन्होंने 18 गेंदों पर तीन छक्कों की मदद से 30 रन बनाकर स्कोर 120 रन के पार पहुंचाया। केकेआर की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही लेकिन कप्तान मोर्गन (40 गेंदों पर नाबाद 47 रन, चार चौके, दो छक्के) ने राहुल त्रिपाठी (32 गेंदों पर 41 रन) के साथ चौथे विकेट के लिये 66 रन जोड़कर टीम को शुरू में मिले झटकों से उबारा। केकेआर ने 16.4 ओवर में पांच विकेट पर 126 रन बनाकर जीत दर्ज की। केकेआर की इस जीत का श्रेय गेंदबाजों को जाता है। प्रसिद्ध कृष्णा उसके सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 30 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि सुनील नारायण (22 रन देकर दो) और पैट कमिन्स (तीन ओवर में 31 रन देकर दो) ने दो-दो विकेट लिये। युवा शिवम मावी (13 रन देकर एक) और वरुण चक्रवर्ती (24 रन देकर एक) ने भी कसी हुई गेंदबाजी की।

इसे भी पढ़ें: क्या Olympic में दर्शकों की होगी एंट्री? अप्रैल महीने के आखिर तक होगा फैसला

पंजाब के गेंदबाज भी पीछे नहीं रहे। मोएजेस हेनरिक्स, मोहम्मद शमी (25 रन देकर एक) और अर्शदीप सिंह ने पहले तीन ओवर में ही दोनों सलामी बल्लेबाजों नितीश राणा (शून्य) और शुभमन गिल (नौ) के अलावा सुनील नारायण (शून्य) को आउट करके स्कोर तीन विकेट पर 17 रन कर दिया। मोर्गन और त्रिपाठी ने इसके बाद बखूबी जिम्मेदारी संभाली। मोर्गन ने शमी पर डीप स्क्वायर लेग में छक्का जड़कर खाता खोला। इसके बाद विशेषकर त्रिपाठी ने नियमित तौर पर गेंद को सीमा रेखा के दर्शन कराये। उन्होंने दीपक हुड्डा की गेंद पर लांग आन पर कैच देने से पहले सात चौके लगाये। जब गेंदबाज रनों पर अंकुश लगाने का प्रयास कर रहे थे तब मोर्गन ने हुड्डा पर चौका और छक्का जड़कर केएल राहुल को सिखाया कि ऐसे नाजुक मोड़ पर कम अनुभवी गेंदबाज को गेंद सौंपना जोखिम भरा हो सकता है। दिनेश कार्तिक (नाबाद 12) ने अर्शदीप पर दो चौके लगाये जिनमें विजयी चौका भी शामिल है। इससे पहले टास गंवाने के बाद केएल राहुल (19) जब अग्रवाल के साथ मिलकर पूरी कुशलता से पारी आगे बढ़ा रहे थे तब पंजाब किंग्स के कप्तान ने कमिन्स पर छक्का जड़ने के बाद अगली गेंद भी हवा में लहरा दी लेकिन इस बार वह सीमा रेखा पार जाने के बजाय नारायण के हाथों में चली गयी।

इसे भी पढ़ें: राफेल नडाल ने सिटसिपास को हराकर 12वीं बार बार्सीलोना ओपन का खिताब जीता

गेंदबाजी का आगाज करने वाले मावी ने कसी हुई गेंदबाजी की और विस्फोटक क्रिस गेल का विकेट भी लिया जो खाता भी नहीं खोल पाये। कृष्णा ने दीपक हुड्डा का जलवा नहीं चलने दिया जिससे पावरप्ले में एक विकेट पर 37 रन बनाने वाले पंजाब का स्कोर जल्द ही तीन विकेट पर 42 रन हो गया। अग्रवाल ने कृष्णा की गेंद पर छक्का जड़कर 10वें ओवर में स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया लेकिन नारायण की शार्ट पिच गेंद को उठाकर मारने के प्रयास में डीप मिडविकेट पर कैच दे बैठे जिससे पंजाब की वापसी की उम्मीदों को झटका लगा। नारायण ने अगले ओवर में मोएजेस हेनरिक्स (दो) को टर्न लेती गेंद पर बोल्ड किया। निकोलस पूरण (19) के पास स्वयं को साबित करने का बेहतरीन मौका था लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाये और वरुण चक्रवर्ती की गेंद को स्वीप करने के प्रयास में बोल्ड हो गये। युवा शाहरूख खान भी डेथ ओवरों में अपना प्रभाव छोड़ सकते थे लेकिन वह भी केवल 13 रन ही बना पाये। जोर्डन ने आउट होने से पहले कमिन्स पर छक्का जड़ने के बाद कृष्णा के पारी के आखिरी ओवर में दो छक्के लगाये।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।