Lance Morris को भारत के खिलाफ टेस्ट पदार्पण की उम्मीद

Lance Morris
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
इस चौबीस साल के तूफानी तेज गेंदबाज को चार मैच की बोर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के शुरुआती दो टेस्ट के लिए ऑस्ट्रेलिया की 18 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया है। मौरिस 150 किमी प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार से गेंदबाजी करने में सक्षम हैं।

शेफील्ड शील्ड सत्र में सबसे सफल रहे ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज लांस मौरिस का मानना है कि उनके पास भारत के खिलाफ नौ फरवरी से नागपुर में शुरू हो रहे पहले टेस्ट में पदार्पण करने का सर्वश्रेष्ठ मौका है। इस चौबीस साल के तूफानी तेज गेंदबाज को चार मैच की बोर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के शुरुआती दो टेस्ट के लिए ऑस्ट्रेलिया की 18 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया है। मौरिस 150 किमी प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार से गेंदबाजी करने में सक्षम हैं।

फॉक्स स्पोर्ट्स ने पश्चिम ऑस्ट्रेलिया के इस तेज गेंदबाज के हवाले से कहा, ‘‘जितना अधिक संभव को उतना तैयार रहने के लिए मैं सब कुछ करूंगा।’’ तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क श्रृंखला के पहले टेस्ट के लिए अनुपलब्ध रहेंगे और ऐसे में मौरिस के पास पदार्पण का अच्छा मौका होगा। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ श्रृंखला जीतने के दौरान भी मौरिस ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट टीम का हिस्सा थे। मौरिस ने कहा, ‘‘अगर ईमानदारी से कहूं तो यह संभवत: वहां खेलने का मेरे पास सर्वश्रेष्ठ मौका होगा। देखते हैं क्या होता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरा पहला विदेशी दौरा होगा इसलिए सीखने के लिहाज से यह मेरे लिए बहुत बड़ा होगा। मैं वहां जाने को लेकर बेहद उत्साहित हूं।’’ पर्थ से लगभग तीन घंटे की दूरी पर डुन्सबोरो में रहने वाले मौरिस ने 2020 में पश्चिम ऑस्ट्रेलिया के लिए पदार्पण किया। उन्होंने अपने पहले सत्र में पांच मैच में 12 विकेट चटकाए। पिछले साल पश्चिम ऑस्ट्रेलिया ने जब शेफील्ड शील्ड में अपने खिताब के सूखे को खत्म किया तो उन्होंने 20 विकेट हासिल किए। इस बार वह अब तक पांच मैच में 27 विकेट प्राप्त कर चुके हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़