मुंबई इंडियन्स ने पंजाब किंग्स का हराकर प्लेऑफ की ओर बढ़ाया कदम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 29, 2021   05:03
मुंबई इंडियन्स ने पंजाब किंग्स का हराकर प्लेऑफ की ओर बढ़ाया कदम

इस जीत के साथ मुंबई के 11 मैचों में 10 अंक हो गये और टीम सातवें से पांचवें पायदान पर पहुंच गयी और प्लेऑफ में पहुंचने की उसकी उम्मीदें भी बढ़ गयी। पंजाब किंग्स के लिए 11वें मैच में यह सातवीं हार है और टीम तालिका में छठे से सातवें स्थान पर खिसक गयी।

 सौरभ तिवारी (45) और हार्दिक पांड्या (नाबाद 40) की शानदार बल्लेबाजी के बूते मुंबई इंडियन्स ने इंडियन प्रीमियर लीग मुकाबले में मंगलवार को यहां पंजाब किंग्स को छह विकेट से हराकर सत्र की पांचवीं जीत दर्ज की।

हार्दिक ने छक्के के साथ मैच को खत्म करने से पहले तिवारी के साथ चौथे विकेट के लिए 31 रन जोड़े और फिर कीरोन पोलार्ड (नाबाद 15) के साथ पांचवें विकेट के लिए 45 रन की अटूट साझेदारी की।

इसे भी पढ़ें: पटेल की हैट्रिक और मैक्सवेल के शानदार प्रदर्शन से आरसीबी ने मुंबई इंडियंस को 54 से हराया

मैन ऑफ द मैच पोलार्ड ने गेंद से भी कमाल किया। उन्होंने एक ओवर में आठ रन खर्च कर लोकेश राहुल और क्रिस गेल के अहम विकेट चटकाये।

इस जीत के साथ मुंबई के 11 मैचों में 10 अंक हो गये और टीम सातवें से पांचवें पायदान पर पहुंच गयी और प्लेऑफ में पहुंचने की उसकी उम्मीदें भी बढ़ गयी। पंजाब किंग्स के लिए 11वें मैच में यह सातवीं हार है और टीम तालिका में छठे से सातवें स्थान पर खिसक गयी।

पंजाब किंग्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए एडेन मार्कराम की 29 गेंद में 42 रन की पारी से छह विकेट पर 135 रन बनाये। मुंबई ने छह गेंद शेष रहते चार विकेट पर 137 रन बनाकर मैच अपने नाम कर लिया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई के बल्लेबाजों को शुरुआती ओवरों में रन बनाने में परेशानी हुई। रवि बिश्नोई (25 रन पर दो विकेट) ने पारी के चौथे ओवर में लगातार गेंदों पर कप्तान रोहित शर्मा (आठ) और फिर सूर्यकुमार यादव (शून्य) को बोल्ड कर पंजाब को शानदार शुरुआत दिलायी।

इशान किशन की जगह टीम में वापसी करने वाले तिवारी ने एडेन मार्कराम और नाथल एलिस (12 रन पर एक विकेट) के खिलाफ चौका जड़ा जिससे पावर प्ले के बाद टीम का स्कोर दो विकेट पर 30 रन हो गया। पारी के नौवें ओवर में गेंदबाजी के लिए हरप्रीत बरार के खिलाफ तिवारी ने पारी का पहला छक्का लगाया।

दूसरी छोर पर खड़े डिकॉक ने अगले ओवर में मोहम्मद शमी (42 रन पर एक विकेट) के खिलाफ चौका लगाया लेकिन इसके बाद गेंद उनके बल्ले से निकल कर विकेट से टकरा गयी। उन्होंने 29 गेंद में 27 रन बनाये। हार्दिक ने क्रीज पर कदम रखते ही बिश्नोई की गेंद को बाउंड्री पार भेजा।

इसके बाद अर्शदीप सिंह की गेंद पर बरार ने हालांकि  हार्दिक का आसन कैच टपकाकर जीवनदान दिया। तिवारी ने 15वें ओवर बिश्नोई की गेंद को दर्शकों के पास भेजकर जरूरी रन गति को कम किया लेकिन अगले ओवर में एलिस की पहली गेंद पर विकेटकीपर राहुल को कैच दे बैठे। उन्होंने 37 गेंद की पारी में तीन चौकों और दो छक्के की मदद से 45 रन बनाये।

मुंबई को आखिरी चार ओवरों में 40 रन की जरूरत थी और क्रीज पर हार्दिक के साथ पोलार्ड मौजूद थे।  हार्दिक ने शमी  तो वही पोलार्ड ने अर्शदीप की लगातार दो गेंदों पर चौका और छक्का जड़कर गेंद और जरूरी रन के अंतर को कम किया। हार्दिक ने 19वें ओवर में शमी के खिलाफ एक बार फिर चौका और छक्का जड़कर टीम को जीत दिला दी।

इससे पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रिक किये जाने के बाद पंजाब की शुरुआत भी खराब रही। मार्कराम और दीपक हुड्डा (28) के बीच पांचवें विकेट के लिए 61 रन की साझेदारी के बाद भी टीम बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रही।

मुंबई के गेंदबाजों ने शुरुआती और आखिरी ओवरों में कसी हुई गेंदबाजी की जिसमें जसप्रीत बुमराह (चार ओवर में 24 रन) और कीरोन पोलार्ड (एक ओवर में आठ रन) ने दो-दो विकेट झटके।

पंजाब किंग्स के लिए कप्तान राहुल के साथ मनदीप सिंह ने पारी का आगाज किया। वह चोटिल मयंक अग्रवाल की जगह टीम में शामिल हुए है। शुरुआती ओवरों में हालांकि दोनों को तेजी से रन बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ा।  राहुल ने इस दौरान ट्रेंट बोल्ट और बुमराह के खिलाफ दर्शनीय चौके जड़े।

मनदीप ने भी कृणाल पंड्या (24 रन पर एक विकेट) की गेंद को सीमा रेखा के पार भेजा। पावरप्ले के आखिरी ओवर में कृणाल ने मनदीप सिंह को पगबाधा कर 14 गेंद में 15 रन की उनकी पारी को खत्म किया।

इस ओवर से सिर्फ तीन रन आये जिससे छह ओवर के बाद पंजाब का स्कोर एक विकेट पर 38 रन था। सातवें ओवर में गेंदबाजी के लिए आये पोलार्ड ने गेल (एक रन) और फिर राहुल को पवेलियन की राह दिखाकर पंजाब को दो बड़े झटके देने के साथ टी 20 क्रिकेट में 300 विकेट पूरे किये।

राहुल ने 22 गेंद में 21 रन बनाये। बुमराह ने अगले ओवर में निकोल्स पूरन (02) को पगबाधा किया। जिन्होंने मैदानी अंपायर के फैसले के खिलाफ डीआरएस का इस्तेमाल किया लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ।

एडेन मार्करम ने हालांकि राहुल चाहर (27 रन पर एक विकेट) और फिर कुल्टर नाइल के खिलाफ चौका और दीपक हुड्डा ने ट्रेंट बोल्ट के खिलाफ छक्का जड़ने के बाद विकेटों के बीच दौड़ कर स्कोर बोर्ड को चलयमान रखा। ट्रेंट बोल्ट के 15वें ओवर में दोनों ने 15 रन बटोर कर टीम के शतक को पूरा किया।

मार्कराम हालांकि अगले ओवर में राहुल चाहर के खिलाफ चौका लगाने के बाद बोल्ड हो गये। मार्कराम के आउट होने के बाद मुंबई के गेंदबाजों ने फिर से शिकंजा कस दिया और पंजाब के बल्लेबाज इसके बाद एक भी बाउंड्री नहीं लगा पाये।

पारी के 19वें ओवर में बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में दीपक हुड्डा बुमराह की गेंद पर पोलार्ड को कैच थमा बैठे। उन्होंने 26 गेंद की पारी में एक चौका और एक छक्का लगाया। टीम आखिरी पांच ओवर में सिर्फ 30 रन ही जोड़ सकी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।