तय कार्यक्रम पर शुरू होगा भारत का दक्षिण अफ्रीकी दौरा ? सीएसए अधिकारी बोले- बायो बबल सुरक्षित, हल्के हैं ओमीक्रोन के लक्षण

तय कार्यक्रम पर शुरू होगा भारत का दक्षिण अफ्रीकी दौरा ? सीएसए अधिकारी बोले- बायो बबल सुरक्षित, हल्के हैं ओमीक्रोन के लक्षण

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ शुएब मांजरा ने बताया कि गौटेंग प्रांत में संक्रमण का प्रसार तेजी से हो रहा है जिसमें जोहान्सबर्ग भी शामिल है। डॉ मांजरा ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका चौथी लहर की शुरुआत में है। यहां पर मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

नयी दिल्ली। कोरोना के नए वेरिएंट 'ओमीक्रोन' ने सभी की चिंताएं बढ़ा दी है। ऐसे में क्या दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर भारतीय खिलाड़ी जाएंगे या नहीं ? इस पर अभी भी संशय बना हुआ है। आपको बता दें कि भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) की सालाना होने वाली बैठक के दौरान भारतीय टीम के आगामी दक्षिण अफ्रीका दौरे पर फैसला लिया जाएगा। हालांकि कहा जा रहा है कि ओमीक्रोन के वैश्विक मामलों को देखने के बाद क्रिकेट दौरे में एक सप्ताह की देरी हो सकती है।

अंग्रेजी समाचार वेबसाइट 'इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक, क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ शुएब मांजरा ने बताया कि गौटेंग प्रांत में संक्रमण का प्रसार तेजी से हो रहा है जिसमें जोहान्सबर्ग भी शामिल है। आपको बता दें कि जोहान्सबर्ग वही शहर है जहां पर भारतीय टीम अपने पहले दो टेस्ट मैच खेलने वाली है। हालांकि सभी घटनाओं के लिए प्रोटोकॉल मौजूद हैं।

क्या दक्षिण अफ्रीका में आ गई चौथी लहर ?

रिपोर्ट के मुताबिक, डॉ मांजरा ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका चौथी लहर की शुरुआत में है। यहां पर मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। लेकिन मौजूदा परिस्थितियां बताती हैं कि मामले सामान्य रूप से हल्के रहे हैं। गौतेंग प्रांत के अस्पतालों में भर्ती होने का जोखिम विशेष रूप से वैक्सीनेशन नहीं कराने वालों पर बढ़ रहा है। 75 फीसदी मामले इसी तरफ इशारा करते हैं। डॉ मांजरा ने भारत-ए दौरे का हवाला देते हुए बताया कि अभी तक एक भी कोरोना पॉजिटिव मामले नहीं सामने नहीं आया है।

आपको बता दें कि भारत-ए टीम इस समय दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर है और बीसीसीआई इस दौरे को बीच में समाप्त करना चाहता है। लेकिन बोर्ड ने वरिष्ठ खिलाड़ियों के दौरे की तारीखों को आगे बढ़ाने का मन बना लिया है। बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि हम स्थिति का आकलन करना चाहते हैं और फैसला करना चाहते हैं। हम खिलाड़ियों के डर को भी दूर करना चाहते हैं।

दक्षिण अफ्रीकी दौरे का पूरा कार्यक्रम

भारतीय क्रिकेट टीम 9 दिसंबर को दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना होगी और पहला टेस्ट 17 दिसंबर को जोहान्सबर्ग में खेलेगी। ऐसे में टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 3 टेस्ट, 3 एकदिवसीय और 4 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेलने वाली है। हालांकि कोरोना के प्रकोप को देखेते हुए भारतीय टीम ने मैनचेस्टर में इंग्लैंड के खिलाफ 5वां टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया था।

डॉ मांजरा को लगता है कि बॉयो-बबल सुरक्षा को सुनिश्चित कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि भारतीय खिलाड़ियों को 5 दिनों तक क्वारंटीन में रहना होगा। जिनमें से पहला दिन खास होगा और फिर होटल में छोटे ग्रुप्स के साथ खिलाड़ी घूम सकेंगे।