Prabhasakshi
सोमवार, अक्तूबर 22 2018 | समय 19:17 Hrs(IST)

समसामयिक

पत्थर पर्यटक को नहीं पर्यटन को लगा, पर्यटक नहीं पर्यटन व्यवसाय मरा

By सुरेश एस डुग्गर | Publish Date: May 9 2018 1:04PM

पत्थर पर्यटक को नहीं पर्यटन को लगा, पर्यटक नहीं पर्यटन व्यवसाय मरा
Image Source: Google

श्रीनगर, 8 मई। कश्मीर में पत्थरबाजों ने एक टूरिस्ट की जान ले ली है। पहला मौका है कि पत्थरबाजी में किसी पर्यटक की मौत हुई हो। पिछले सप्ताह हालांकि केरल के 7 पर्यटक पत्थरबाजी में जख्मी जरूर हुए थे। इस घटना को कश्मीर के टूरिज्म के ताबूत में आखिरी कील के समान माना जाने लगा है क्योंकि पर्यटकों का कश्मीर से मोह भंग होने लगा है और वे तेजी से अपने घरों को वापस लौट रहे हैं। यही नहीं आगामी बुकिगें भी रद्द होने की खबरें आ रही हैं। हालांकि चारों ओर से इस घटना की निंदा भी टूरिस्टों के डर को कम नहीं कर पा रही है क्योंकि पत्थरबाजों से सुरक्षा का असश्वासन देने को कोई तैयार नहीं है, न ही सुरक्षा बल और न ही अलगाववादी नेता।

श्रीनगर में पत्थरबाजी के दौरान सिर में चोट लगने के कारण तमिलनाडु के एक पर्यटक की मौत होने के एक दिन के बाद पर्यटन विभाग और इससे जुड़े लोगों ने आशंका व्यक्त की है कि इस घटना से कश्मीर में पर्यटकों के आने पर नाकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। नरबल में सोमवार सुबह पत्थर फेंकने की एक घटना में चेन्नई के 22 वर्षीय पर्यटक आर. तिरूमणि गंभीर रूप से घायल हो गये। उसे यहां के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उसने दम तोड़ दिया। ट्रेवल एजेंट एसोसिएशन कश्मीर (टीएएके) के अशफाक सिद्दीकी ने बताया कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है जो नहीं होनी चाहिए थी। हमें लग रहा है कि इससे पर्यटन पर नकारात्मक असर पड़ेगा।
 
सिद्दीकी ने बताया कि संगठन का मानना है कि चेन्नई के युवा की हत्या कश्मीर में पर्यटन को प्रभावित कर सकती है। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यवश, हाल के दिनों में हुयी कुछ घटनाओं ने अपना प्रभाव छोड़ा है। प्राकृतिक रूप से इस घटना के कारण नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा विशेषकर तब जब राष्ट्रीय मीडिया का एक वर्ग इसे एक निश्चित एजेंडा के तहत उजागर करेगा। मुझे लगता है कि यह घटना कश्मीर के टूरिज्म के ताबूत की आखिरी कील साबित हो सकता है। टीएएके अध्यक्ष ने कहा कि एसोसिएशन को आशंका है कि आने वाले दिनों में पहले से की गई बुकिंग को कैंसल किया जा सकता है।
 
टूरिज्म कश्मीर के निदेशक महमूद शाह ने घटना की निंदा की और कहा कि विभाग को आशंका है कि इससे घाटी में पर्यटकों के आगमन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। शाह ने बताया कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है और हमें काफी दुख है।
 
मुख्यमंत्री सोमवार देर रात (पीड़ित के) परिवार के प्रति अपना शोक व्यक्त करने के लिए गयीं। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पथराव में 22 वर्षीय एक युवक की मौत को ‘मानवता की हत्या’ करार दिया और कहा कि इस घटना ने उनके अंदर की मां को झकझोर दिया है। चेन्नई निवासी के पिता से भेंट के बाद विचलित नजर आ रहीं महबूबा ने कहा कि जो लोग किसी को मारने के लिए पत्थर उठाते हैं, उनका कोई धर्म नहीं होता।
 
तिरुमणि का परिवार छुट्टी मनाने घाटी में आया था। यहां एक अस्पताल में उसकी मौत हो गयी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मुद्दे पर अब कई दिनों तक टेलीविजन पर चर्चा और बहस होगी तथा ‘हम मानवता की हत्या चुपचाप देखते रहेंगे। यह ऐसी घटना है जिसके बारे में जम्मू कश्मीर में अब तक सुना नहीं गया है।’
 
दो बेटियों की मां और राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार की शिक्षा हमारी अगली पीढ़ी को दी जा रही है, उससे मेरे अंदर की मां विचलित हो गयी है। उन्होंने कहा कि हम अपने बच्चों को कौन सी शिक्षा दे रहे हैं? कि पत्थर उठाएं और सड़क पर जा रहे किसी व्यक्ति को मार दें? यह वह नहीं है जिसकी हमारा इस्लाम हमें शिक्षा देता है। हमारा धर्म हमें अपने मेहमानों की देखभाल की शिक्षा देता है। ये लोग या लड़के, जो किसी को मारने के लिए पत्थर उठाते हैं, उनका कोई धर्म नहीं है। 
 
उन्होंने अभिभावकों से सवाल किया कि वे अपने बच्चों को कहां धकेल रहे हैं। तिरुमणि और उसका परिवार गुलमर्ग से लौट रहा था। बडगाम में मगाम के समीप उनकी गाड़ी पथराव में फंस गयी। एक पत्थर तिरुमणि की कनपटी में आ लगा। उसे सौरा आयुर्विज्ञान संस्थान ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गयी। 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि क्या कोई कल्पना कर सकता है कि एक गरीब बाप ने अपने परिवार को कश्मीर लाने के लिए अपनी पूरी बचत खर्च की थी और वह अब अपने बेटे के ताबूत के साथ लौट रहा है। क्या हम यही चाहते हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या इस घटना का पर्यटन पर असर होगा तो उन्होंने कहा कि मैं पर्यटन की बात नहीं कर सकती यह मानवता के बारे में मूल सवाल है। यह कश्मीरियत नहीं हो सकती।
 
पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी श्रीनगर-गुलमर्ग मार्ग पर नरबल इलाके में पथराव करने की एक घटना में तमिलनाडु से आए एक पर्यटक की हत्या की निंदा की है। उमर ने पर्यटक की हत्या की निंदा करते हुए राज्य सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पीडीपी और बीजेपी की गठबंधन सरकार में विफल हो रहा है।
 
नेशनल कान्फ्रेंस के कार्यकारी अध्यक्ष उमर ने ट्वीट संदेशों की एक श्रृंखला में कहा कि हमने वाहन पर पत्थर फेंक कर उसमें सवार पर्यटक की हत्या कर दी। हम प्रयास करें और इस तथ्य पर सिर जोड़ें कि हमने एक पर्यटक पर, एक मेहमान पर पथराव कर उसकी हत्या कर दी जबकि हम पत्थरबाजों और उनके तरीकों का महिमामंडन करते हैं।
 
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि चेन्नई का यह नौजवान मेरे चुनाव क्षेत्र में मरा और जहां मैं इन गुंडों, उनके तरीकों या विचारधारा की हिमायत नहीं करता, मुझे बहुत, बहुत अफसोस है कि ऐसा हुआ और वह भी उस इलाके में जिसका 2014 से प्रतिनिधित्व करने का मुझे फख्र है। उन्होंने पथराव में हंडवाड़ा में घायल एक लड़की के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की भी कामना की।
 
जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी डॉ. एसपी वेद ने भी घटना को बेहद शर्मनाक करार दिया। उन्होंने कहा कि यह दुखद है जो हम कश्मीर में देख रहे हैं। कश्मीर के लोग अतिथि भाव के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने कहा कि मैं लोगों से अपील करता हूं कि ऐसे लोगों को सामने लाएं और उन्हें पुलिस के हवाले करें।
 
हुर्रियत के नरमपंथी गुट के नेता मीरवायज उमर फारूक ने भी पर्यटक की मौत पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि इस हुड़दंग की निंदा करता हूं। यह हमारे विचारों के खिलाफ है। इससे हमारे आन्दोलन की बदनामी हो रही है।
 
-सुरेश एस डुग्गर

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

शेयर करें: