क्या संजय मांजरेकर से बेहतरीन खिलाड़ी हैं रवींद्र जडेजा ?

By दीपक मिश्रा | Publish Date: Jul 8 2019 12:08PM
क्या संजय मांजरेकर से बेहतरीन खिलाड़ी हैं रवींद्र जडेजा ?
Image Source: Google

मांजरेकर ने कहा कि मुझे वह खिलाड़ी नहीं पसंद जो किस्तों में परफॉर्म करते हैं, जैसे कि आजकल जडेजा वनडे में परफॉर्म कर रहे हैं। वहीं, टेस्ट मैचों में वह पूरी तरह से गेंदबाज हैं’। जाहिर है जडेजा के इस तरह ट्वीट करने से साफ पता चलता है कि उन्हें संजय मांजरेकर की कमेंट्री पसंद नहीं आई है।

वर्ल्ड कप 2019 में भले ही अब तक भारत के लिए एक भी मैच जड़ेजा ने नहीं खेला है.. लेकिन वह हर मैच में भारत की जीत में जरूर कुछ योगदान दे जाते है। फील्डिंग में इस वर्ल्ड कप में अबतक अपने प्रदर्शन से तारीफे पाने वाले जडेजा अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर पर भड़क गए है। जडेजा का मांजरेकर पर गुस्सा इस तरह बरसा कि उन्होंने उन्हें टैग करके इसे ट्वीट कर दिया। जडेजा ने मांजरेकर को ट्वीटर पर टैग करते हुए लिखा कि “मैंने तुमसे दोगुने से ज़्यादा मैच खेले हैं। मैं अभी भी खेल रहा हूं। जिन्होंने जीवन में कुछ कमाया है, उनकी इज्ज़त करना सीखो। मैन आपके वर्बल डायरिया के बारे में बहुत सुना है।''


दरअसल मामला ये है कि इस वर्ल्ड कप में संजय मांजरेकर कमेंट्री कर रहे है लगाएं। मांजरेकर ने इस दौरान कहा था कि “वह इस वक्त ऐसे खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में नहीं देखना चाहते जो किस्तों में परफॉर्म करता हो। मांजरेकर ने कहा कि मुझे वह खिलाड़ी नहीं पसंद जो किस्तों में परफॉर्म करते हैं, जैसे कि आजकल जडेजा वनडे में परफॉर्म कर रहे हैं। वहीं, टेस्ट मैचों में वह पूरी तरह से गेंदबाज हैं’। जाहिर है जडेजा के इस तरह ट्वीट करने से साफ पता चलता है कि उन्हें संजय मांजरेकर की कमेंट्री पसंद नहीं आई है। ऐसा आमतौर पर कम ही देखा जाता है जब एक खिलाडी किसी कमेंटेटर के बयानों से नाखुश होकर पलटवार कर सकें। मांजरेकर की ये बात जडेजा को पसंद नहीं आई और उन्होंने ट्वीटर पर अपना सारा गुस्सा निकाल दिया जिसमें उन्होंने मांजरेकर को टैग भी किया। वैसे जडेजा का अपने आपको मांजरेकर से बड़ा बताना क्या सही है। क्या रवींद्र जडेजा मांजरेकर से महान खिलाड़ी है। वैसे जडेजा ने इस ट्वीट में जो कहा वो सच भी दिखता है कि क्योंकि जडेजा इंटरनेशनर क्रिकेट में मांजरेकर से ज्यादा खेल चुके है। जडेजा ने अब तक151 वन-डे इंटरनेशनल मैच खेले हैं। वहीं मांजरेकर ने 74 वन-डे मैचों में 1994 रन बनाए हैं और 1 विकेट लिया है। लेकिन सवाल यह है कि क्या किसी पूर्व क्रिकेटर से आज के समय में ज्यादा मैच खेलने वाला खिलाड़ी बड़ा बन जाता है। क्या उस दौर के क्रिकेट और आज के क्रिकेट में फर्क नहीं है। क्या अपने से सीनियर खिलाड़ी के बारे में ऐसा बयान देना ठीक है। 
अगर भारतीय क्रिकेट में जडेजा का रोल देखें तो क्रिकेट के जानकार उन्हें एक बॉलिंग ऑलराउंडर के तौर पर जानते है। जडेजा को एक ऑल राउंडर के तौर पर टीम में खिलाया जाता है। वो बॉलिंग ऑल राउंडर हैं जो कि लेफ़्ट आर्म स्पिन और लेफ्टी बल्लेबाजी करते है। जडेजा भले ही बल्ले से कई बार महत्तवपूर्ण पारियां खेल देते है लेकिन अगर बल्लेबाजी में देखा जाएं तो उनपर भरोसा थोड़ा कम ही रहता है। जडेजा जब भी मैदान पर उतरते है तो अपनी मौजदूगी का अहसास कराते रहते है। चाहें वो लॉन्ग ऑन से फागकर डीप मिडविकेट पर कैच पकड़ना हो या फिर अर्धशतक जड़ने पर बल्ले से तलवार चलाना। जडेजा एक बेहतरीन खिलाड़ी है और बेहतरीन टीम प्लेयर जो हर तरह से टीम के जीत में भूमिका निभाता है। जडेजा टेस्ट मैचों के बेहतरीन गेंदबाज है जहां वो किसी भी टीम के बल्लेबाजों को धवस्त करना जानते है। लेकिन जडेजा ने अबतक जितना भी क्रिकेट खेला है वो बल्लेबाजी से ज्यादा गेंदबाजी में संतुलित दिखाई दिए है। जडेजा ने ज्यादातर बार भारत को अपनी गेंदबाजी के बल पर जीत दिलाई है। हालांकि वो कई दफा बल्ले से अच्छा प्रदर्शन कर चुके है। लेकिन गेंदबाजी इसमें सबसे ज्यादा जीत में योगदान देती आ रही है।


 
यह तो जडेजा के क्रिकेट के रोल के बारे में रहा। जहां मांजरेकर एक बल्लेबाज थे वहीं जडेजा एक ऑलराउंडर है। लेकिन जडेजा का इस तरह से ट्वीट करना थोड़ा अटपटा लगता है क्योंकि संजय मांजरेकर अपनी कमेंट्री कर रहे थे और ऐसी बातें करना उनके काम का हिस्सा है और जडेजा इस समय क्रिकेट के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक है। ऐसे में वो ट्वीट के बजाय बल्ले और गेंद से मांजरेकर को गलत साबित करते तो यह ज्यादा बेहतर होता। जडेजा को अपने प्रदर्शन से यह जाहिर करने की जरूरत थी कि वो क्रिकेट के किसी भी फार्मेंट में बेहतरीन खिलाड़ी है। लेकिन ऐसा हुआ नहीं है और जडेजा ने ट्वीट कर अपना गुस्सा निकाल दिया। उम्मीद है जडेजा आने वाले मैचों में भारत के लिए खेलते दिखेंगे और मैच भी जिताएंगे। जो इस ट्वीट से ज्यादा बेहतरीन होगा।
 
दीपक मिश्रा


 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Story