अकेले होम लोन नहीं मिले, तो ज्वाइंट होम लोन का ऑप्शन ट्राई करें

अकेले होम लोन नहीं मिले, तो ज्वाइंट होम लोन का ऑप्शन ट्राई करें

लोन क्रेडिट स्कोर के ऊपर मिलता है, तो अगर आप ज्वाइंट होम लोन ले रहे हैं, तो दूसरे व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर ठीक होना चाहिए और अगर उसका क्रेडिट स्कोर अगर सही है, और वह लोन चुकाने की क्षमता रखता है तो आपको अपना घर खरीदने के लिए होम लोन आसानी से आपको मिल जाएगा।

दुनिया में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो, जो अपना घर खरीदने का सपना नहीं देखता हो!

हर कोई चाहता है कि उसका अपना एक निजी घर हो, और इसके लिए वह पाई - पाई जोड़ता है। लोअर मिडल या मिडल क्लास के लिए तो यह जीवन के कुछ अति जरूरी लक्ष्यों में शामिल होता है।

इसके अलावा एक बात यह भी सच है कि ऐसे बहुत कम व्यक्ति होंगे, जो बिना लोन लिए अपने घर का सपना सिर्फ कैश से पूरा कर पाते होंगे!

कहीं ना कहीं उन्हें लोन की तरफ जाना ही पड़ता है, क्योंकि बगैर लोन लिए वह घर का सपना पूरा नहीं कर पाते हैं, आखिर उनके पास एकमुश्त इतनी रकम जमा ही नहीं हो पाती है।

ऐसे में अगर उनकी जॉब अच्छी है, और सैलरी ठीक-ठाक है, तो उन्हें जरूरत के अनुरूप लोन मिल भी जाता है, किंतु कई बार ऐसा होता है कि कम सैलरी या फिर दूसरी वजहों से उन्हें लोन नहीं मिल पाता है। कभी अगर उन्हें लोन मिलता है, तो उसकी राशि उनके लिए पर्याप्त नहीं होती है। ऐसे में अकेला व्यक्ति निराश हो सकता है, परंतु इस लेख में हम आपको बताएंगे कि अगर अकेले आप होम लोन नहीं ले पा रहे हैं, तो ज्वाइंट होम लोन का ऑप्शन आप अवश्य ही यूज कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री स्‍वनिधि योजना क्‍या है? इसके तहत पीएम स्‍ट्रीट वेंडर्स आत्‍मनिर्भर निधि में कैसे आवेदन करें?

आइए जानते हैं इसकी प्रक्रिया को, और इससे जुड़े टर्म्स एंड कंडीशन को...

अगर कुछ बातें सरसरी तौर पर देखी जाएँ, तो ज्वाइंट होम लोन में आपको अधिक इनकम टैक्स छूट का फायदा तो मिलता ही है, साथ ही अगर किसी कारण से कोई एक एप्लीकेंट लोन का भुगतान नहीं कर पाता है, तो दूसरा को एप्लीकेंट लोन आसानी से चुका सकता है। इसी कड़ी में अगर कोई लेडी आपके साथ होम लोन में को - एप्लीकेंट है, तो फिर ब्याज दर भी कम होने की संभावना होती है। मतलब चारों तरफ से फायदा ही फायदा!

ध्यान दीजिए, अगर आपकी प्रोफाइल ऐसी नहीं है कि आपको होम लोन मिल सके, तो आपकी लोन एप्लीकेशन कई बार रिजेक्ट हो जाती है। ऐसी स्थिति में ज्वाइंट होम लोन के लिए अप्लाई अवश्य करें। चूंकि ज्वाइंट होम लोन में 2 लोग होते हैं, और इसलिए इस बात के चांसेस बढ़ जाते हैं कि बैंक दो लोगों की जॉइंट क्रेडिबिलिटी पर विश्वास करके ज्वाइंट होम लोन का एप्लीकेशन एक्सेप्ट कर ले। जाहिर तौर पर एक के डिफ़ॉल्ट होने की स्थिति में भी बैंक का पैसा डूबने से बच जाता है और इसीलिए बैंक ज्वाइंट होम लोन को प्रिफर करते हैं।

हम सब जानते ही हैं कि लोन क्रेडिट स्कोर के ऊपर मिलता है, तो अगर आप ज्वाइंट होम लोन ले रहे हैं, तो दूसरे व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर ठीक होना चाहिए और अगर उसका क्रेडिट स्कोर अगर सही है, और वह लोन चुकाने की क्षमता रखता है तो आपको अपना घर खरीदने के लिए होम लोन आसानी से आपको मिल जाएगा।

जैसा कि ऊपर की लाइन में बताया गया है कि अगर आपकी को एप्लीकेंट कोई महिला है, तो सामान्य रेट से तकरीबन .05 फ़ीसदी, यानी 5 बेसिस प्वाइंट कम का ब्याज आपको इस मामले में फायदा दे सकता है। हालांकि महिला का उस प्रॉपर्टी का मालकिन होना जरूरी है। मतलब बैंक इस मामले में बड़ा क्लियर है कि कोई लेडी तभी को एप्लिकेंट बन सकती है, जब वह प्रॉपर्टी की मालकिन हो। मतलब अगर कोई महिला प्रॉपर्टी की मालकिन नहीं है, तब वह को एप्लीकेंट नहीं बन सकती है।

इसके अलावा अगर दूसरी उलझनों की बात की जाए, तो जॉइंट लोन सामान्य रूप से भाई-भाई को नहीं मिलती है। यह ध्यान दीजिए कि प्रॉपर्टी खरीदते समय भाई बहन को भी बैंक प्रिफर नहीं करते हैं। हालांकि परिवार के दूसरे सदस्य जैसे मां बाप, बेटा बेटी, पिता बेटी या फिर माता बेटा, या फिर वाइफ हस्बैंड के नाम, अगर जॉइंट लोन के लिए आपने अप्लाई कर रखा है, तो बैंक आपको आसानी से ज्वाइंट होम लोन दे सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: Housing For All Scheme: ऐसे उठा सकते हैं प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

ऐसा माना जाता है कि अधिकतर बैंक भाई बहन के साथ ज्वाइंट होम लोन नहीं देते, किन्तु कई लोग आपको ऐसे भी मिल जाएंगे, जो दो भाई या दो बहन मिलकर, ज्वाइंट होम लोन लेकर अपने घर का सपना साकार कर चुके हैं। वैसे भी इसे लेकर कोई नियम नहीं है, पर फिर भी अगर बैंक इसमें टालमटोल करता है, तो आपके पास दूसरे ऑप्शन मजबूत होने चाहिए।

ध्यान दीजिए कि अगर आप घर खरीदते हैं, तो होम लोन पर इनकम टैक्स के पास 80सी और 24बी के तहत मिलने वाले टैक्स बेनिफिट की जानकारी होनी चाहिए। मतलब हर साल ₹200000 तक का डिडक्शन लोन चुकाने वाला व्यक्ति ले सकता है, जबकि प्रिंसिपल अमाउंट पर 80c के भीतर साल में डेढ़ लाख रुपए का डिडक्शन आपको मिलता है। यह भी खास बात है कि ज्वाइंट होम लोन के लिए अप्लाई करने वाले दोनों कर्ज ले रहे व्यक्ति अलग-अलग इनकम टैक्स का बेनिफिट ले सकते हैं। हालांकि प्रॉपर्टी का मालिक होना उनके लिए आवश्यक होता है।

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि घर लेने का सपना साकार करने के लिए एक मनुष्य तमाम तरह के जतन करता है, और अगर किसी न किसी कारणवश बैंक उसे होम लोन नहीं दे रहे हैं, तो ज्वाइंट होम लोन का ऑप्शन उनके लिए रामबाण साबित हो सकता है।

- मिथिलेश कुमार सिंह







This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept