नागरिक सहकारी बैंक होम लोन: इसके बारे में यहां और जानें

नागरिक सहकारी बैंक होम लोन: इसके बारे में यहां और जानें

प्रिंसिपल अमाउंट का रीपेमेंट: किसी एक वित्तीय वर्ष में चुकाए गए पूरी राशि पर आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत कर छूट मिल सकती है, जो कि प्रत्येक वित्तीय वर्ष के लिए अधिकतम राशि रु 1,50,000 है।

नागरिक सहकारी बैंक भारत में एक बैंक है। इसका मुख्यालय ग्वालियर में है। नागरिक सहकारी बैंक 1978 में स्थापित किया गया था। इसकी 11 शाखाएं हैं और यह अपने ग्राहकों को सभी वित्तीय सेवाएं प्रदान करता है, जैसे बचत जमा, सावधि जमा, आवर्ती जमा, गृह ऋण, व्यक्तिगत ऋण, कार ऋण, शिक्षा ऋण, स्वर्ण ऋण, पीपीएफ खाता, लॉकर, नेटबैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, आरटीजीएस, एनईएफटी, आईएमपीएस, ई-वॉलेट, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और कई अन्य सेवाएं।

होम लोन के लिए नागरिक सहकारी बैंक क्यों?

नागरिक सहकारी बैंक ग्राहकों की विभिन्न आवश्यकताओं के लिए डिज़ाइन की गई होम लोन योजनाओं की एक श्रृंखला प्रदान करता है।

-ब्याज दर बहुत कॉम्पिटिटिव और सस्ती है

-न्यूनतम दस्तावेज की आवश्यकता होती है

-यह उधारकर्ताओं को फ्लेक्सिबल रीपेमेंट ऑप्शन प्रदान करता है

-गृह ऋणों की आसान और तेज़ स्वीकृति और वितरण करता है

-अच्छे और अनुभवी कर्मचारियों की एक समर्पित टीम है जो व्यक्तिगत सेवा भी प्रदान करती है

-नागरिक सहकारी बैंक की 24/7 ग्राहक सेवा ग्राहकों को समय पर सहायता प्रदान करती है

इसे भी पढ़ें: Yes Bank का लोन और अग्रिम 0.8% बढ़कर 1.73 लाख करोड़ पर पहुंचा

नागरिक सहकारी बैंक होम लोन का उद्देश्य

-नए या पुराने घर या फ्लैट को खरीदने या बनाने के लिए

-किसी मौजूदा घर की रिपेयर, रेनोवेट, विस्तार या अल्टरेशन करना

-हाउसिंग सोसायटी या राज्य सरकार हाउसिंग बोर्ड या निजी बिल्डर से तैयार फ्लैट या घर खरीदने के लिए

-टोटल होम लोन स्कीम के तहत नए घर के लिए कंज्यूमर ड्यूरेबल्स खरीदने के लिए

नागरिक सहकारी बैंक होम लोन की पात्रता

-आवेदक एक भारतीय नागरिक होना चाहिए। वह अनिवार्य रूप से भारतीय मूल का व्यक्ति (पीआईओ) होना चाहिए।

-लोन की मैच्योरिटी के समय आवेदक की आयु 18 वर्ष और 70 वर्ष की होनी चाहिए।

-आवेदक को नियमित आय के साथ वेतन भोगी या सेल्फ-एम्प्लॉयड होना चाहिए।

-आवेदक को न्यूनतम आवश्यक आय से अधिक अर्जित करना चाहिए।

नागरिक सहकारी बैंक होम लोन  के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

-फोटोग्राफ के साथ विधिवत भरा और हस्ताक्षरित आवेदन पत्र

-पहचान प्रमाण - आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, सरकार द्वारा जारी आईडी-कार्ड

-एड्रेस प्रूफ - आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, बिजली / टेलीफोन / पोस्ट-पेड मोबाइल बिल, बैंक स्टेटमेंट

-आयु प्रमाण - पासपोर्ट, जन्म प्रमाण पत्र, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी -कार्ड, कर्मचारी आईडी कार्ड (केवल पीएसयू / सरकारी कर्मचारियों के लिए), स्कूल / कॉलेज छोड़ने का प्रमाण पत्र

फॉर्म 16

-वेतनभोगी व्यक्तियों के लिए लेटेस्ट 6 महीने की सैलरी स्लिप

-पिछले 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट

-पिछले 3 वर्षों का आयकर रिटर्न (ITR)

-पिछले 3 वर्षों में CA प्रमाणित या ऑडिटेड बैलेंस शीट और प्रॉफिट एंड लॉस

अकाउंट 

-प्रोसेसिंग शुल्क 

-संपत्ति के टाइटल डॉक्यूमेंट और एप्रूव्ड प्लान की प्रतियां

-निर्माण / नवीनीकरण के मामले में आर्किटेक्ट द्वारा कॉस्ट एस्टीमेट 

इसे भी पढ़ें: SBI का home loan हुआ महंगा, ब्याज दर बढ़कर 6.95 प्रतिशत

नागरिक सहकारी बैंक होम लोन का लाभ उठाने के कर लाभ

निवासी भारतीयों के लिए गृह ऋण से जुड़े दो प्रकार के कर लाभ हैं:

-प्रिंसिपल अमाउंट का रीपेमेंट: किसी एक वित्तीय वर्ष में चुकाए गए पूरी राशि पर आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत कर छूट मिल सकती है, जो कि प्रत्येक वित्तीय वर्ष के लिए अधिकतम  राशि रु 1,50,000 है।  

-होम लोन पर ब्याज की चुकौती: ब्याज के भुगतान के लिए होम लोन पर कर लाभ की अनुमति आयकर अधिनियम की धारा 24 (1) के तहत कटौती के रूप में दी जाती है।  उस वित्तीय वर्ष के दौरान आप के द्वारा दिए गए होम लोन के ब्याज के लिए अधिकतम 2 लाख रुपये की कर छूट प्रति वित्तीय वर्ष के लिए आपको दी जाती है।

नागरिक सहकारी बैंक होम लोन के पूर्व भुगतान के मामले में क्या ईएमआई बदल जाएगी?

कोई भी व्यक्ति पूर्व भुगतान शुल्क के बिना नागरिक सहकारी बैंक होम लोन का भुगतान कर सकता है, क्योंकि इसमें फ्लोटिंग रेट होम लोन के मामले में शून्य शुल्क पर पूर्व भुगतान किया जा सकता है। यदि उधारकर्ता पूर्व भुगतान करता है, तो उसके होम लोन की मूल राशि का बकाया कम हो जाता है। फिर उस स्थिति में उसके पास 2 विकल्प होते हैं:

वह मौजूदा प्लान को जारी रख सकता है और ऋण अवधि को कम कर सकता है

वह ईएमआई कम कर सकता है और लोन की अवधि को समान रख सकता है

इसे भी पढ़ें: आईएमएफ से कर्ज के बावजूद पाकिस्तान की आर्थिक स्थिरता चीन की सहायता पर टिकी

अपने होम लोन की EMI कैसे कम करें?

कम ब्याज दर पर अपने बैंकर के साथ बातचीत करें

अधिक अवधि के लिए आवेदन करें

डाउन पेमेंट के रूप में अधिकतम राशि दें

लोन अमाउंट की प्रीपेमेंट करें

कम ब्याज दर ऑफर करने वाले दूसरे बैंक पर स्विच करें

- जे. पी. शुक्ला