रेलवे ने टिकटों को सिबिल से जोड़ा, जानना चाहेंगे क्यों?

प्रभासाक्षी के लोकप्रिय कॉलम ''आर्थिक विशेषज्ञ की सलाह'' में इस सप्ताह जानिये पैन कार्ड, पेटीएम, होम लोन, जीएसटी, क्रेडिट कार्ड, आयकर रिटर्न और बिटकॉइन आदि से संबंधित पाठकों के प्रश्नों के उत्तर।

पाठकों के प्रश्नों का उत्तर दे रहे हैं द्वारिकेश शुगर इंडस्ट्रीज लिमिटेड के पूर्णकालिक निदेशक व कंपनी सचिव श्री बी.जे. माहेश्वरी जी। श्री माहेश्वरी पिछले 33 वर्षों से कंपनी कानून मामलों, कर (प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष) आदि मामलों को देखते रहे हैं। यदि आपके मन में भी आर्थिक विषयों से जुड़े प्रश्न हों तो उन्हें [email protected] पर भेज सकते हैं। प्रभासाक्षी के लोकप्रिय कॉलम 'आर्थिक विशेषज्ञ की सलाह' में इस सप्ताह जानिये पैन कार्ड, पेटीएम, होम लोन, जीएसटी, क्रेडिट कार्ड, आयकर रिटर्न और बिटकॉइन आदि से संबंधित पाठकों के प्रश्नों के उत्तर।

प्रश्न-1. पेटीएम अब बैंक बन रहा है क्या इस ई-वॉलेट में रखी गयी हमारी राशि खुद ही नये बैंक में चली जाएगी?

उत्तर-2 जी हां, पेटीएम अब बैंक बन रहा है और ई-वॉलेट में रखी आपी राशि खुद ही नये बैंक में चली जायेगी।

प्रश्न-2. मैंने एक सर्वे रिपोर्ट पढ़ी कि ज्यादातर कंपनियां अभी जीएसटी के लिए पूरी तरह तैयार नहीं हैं क्या इसे देखते हुए सरकार जीएसटी का क्रियान्वयन टाल सकती है?

उत्तर- जीएसटी के लिए ज्यादातर कंपनियों के पूरी तरह न होने की स्थिति में सरकार जीएसटी की क्रियान्वयन टाल सकती है या नहीं, इस बारे में हम अपनी कोई राय नहीं दे सकते हैं।

प्रश्न-3. क्या 10 लाख रुपए तक का सालाना कारोबार करने वाली कंपनियों के लिए भी पैन अनिवार्य है?

उत्तर- पैन आजकल काफी जगह अनिवार्य है, जैसे बैंक खाता खोलने के लिए एफडी बनाने के लिए कहीं म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करना हो, साधारणतः पैन हर जगह मांगा जाता है। अतः पैन बनाना ही श्रेयस्कर है कंपनी टर्नओवर से उसके जुड़ाव का कोई आधार नहीं है।

प्रश्न-4. रेलवे ने टिकटों को घर तक पहुँचाने की जो व्यवस्था की है उसे सिबिल से क्यों जोड़ दिया गया है?

उत्तर- रेलवे द्वारा टिकटों को घर तक पहुंचाने की व्यवस्था को सिबिल से जोड़ने का कारण यह है कि सरकार टिकट आप तक पहुंचाने के लिए कोरियर/पोस्टेज इत्यादि का खर्च करती है, दूसरा यह कि सरकार अनवान्टेड/अननेससरी केंसलेशन को हतोत्साहित करना चाहती है और ऐसे केंसलेशन का प्रभाव सिबिल स्कोर पर पड़ेगा।


प्रश्न-5. यदि हम क्रेडिट कार्ड का भुगतान अंतिम देय तिथि को एनईएफटी से करते हैं तो क्या यह राशि उसी दिन दी हुई मान ली जाएगी?

उत्तर- क्रेडिट कार्ड का भुगतान अंतिम देय तिथि को एनईएफटी द्वारा करने पर यह राशि उसी दिन दी हुई मान ली जायेगी।

प्रश्न-6. एचडीएफसी बैंक ने हाल ही में 30 लाख रुपए तक होम लोन की दरें घटा दी हैं। मेरा कर्ज 32 लाख रुपए है क्या मैं दो लाख रुपए भुगतान कर दूँ तो मेरी ब्याज दर भी कम हो जाएगी?

उत्तर- आपके द्वारा बताई गई स्थितियों में आप द्वारा दो लाख भुगतान करने पर भी आपकी ब्याज दर कम नहीं होगी। घटी हुई ब्याज दर आपकी एचडीएफसी बैंक द्वारा किये अनाउन्समेंट के बाद में लिए 30 लाख तक के होम लोन पर लागू होगी।

प्रश्न-7. क्या नये आयकर रिटर्न फार्म में बैंक खातों के साथ सभी क्रेडिट कार्डों का ब्यौरा देना भी अनिवार्य किया गया है?

उत्तर- आयकर रिटर्न में क्रेडिट कार्डों का ब्यौरा देना अनिवार्य नहीं है।

प्रश्न-8. बिटकॉइन में लेन-देन कैसे होता है? यह कहां से खरीदी जा सकती हैं और क्या यह मुद्रा भारत में वैध है?

उत्तर- बिटकॉइन भारत में वैध नहीं है। यह विदेशों में चलती है। यह डिजिटल करन्सी है। इसमें व्यवहार ब्रोकर के माध्यम से होता है।

प्रश्न-9. सैमसंग पे एप में क्रेडिट और डेबिट कार्ड को स्कैन करके रखना क्या सुरक्षित है?

उत्तर- आप सैमसंग पे एप में क्रेडिट और डेबिट कार्ड को स्कैन करके रख सकते हैं लेकिन आप अपना पासवर्ड, पैन नंबर, सिक्योरिटी प्रश्न गोपनीय रखें।

प्रश्न-10. जिला उपभोक्ता अदालत में कितने रुपए तक के मामले दायर किये जा सकते हैं?

उत्तर- जिला उपभोक्ता अदालत में 20 लाख रुपये तक के मामले दायर किये जा सकते हैं।

नोटः कर से जुड़े हर मामले चूँकि भिन्न प्रकार के होते हैं इसलिए संभव है यहाँ दी गयी जानकारी आपके मामले में सटीक नहीं हो इसलिए अपने विशेषज्ञ की सलाह भी ले लें।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़